(2020) Mobile apps & web portals launched by Government of India

(2020) Mobile apps & web portals-Hello Aspirant आज हम आप सभी Students के लिए कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण Information Share कर रहे हैं. यह Information आप सभी को जरुर पढनी चाहिए और आप सभी को इसका फायदा उठाना चाहिए. Friends जो Information आज हम आप अभी के लिए Share कर रहे हैं वह (2020) Mobile apps & web portals launched by Government of India की है.

(2020) Mobile apps & web portals launched by Government of India

Friends अप सभी इस Information के माध्यम से सरकार के द्वारा जारी की गयी विभिन्न ‘Government Mobile apps & web portals’ को जान सकते हैं और उसका पूरा उपयोग कर सकते हैं. Friends इस Post में हमने आप सभी को जानकारी के साथ-साथ उसका (Apps/Portals) का Download Link भी दिया है आप नाम के उपर क्लिक कर के Download कर सकते हैं.

Also, Read👉प्रमुख लेखक एवं उनके रचनाएँ-आगामी परीक्षा हेतु महत्वपूर्ण जानकारी

Also, Read👉उत्तर प्रदेश सरकार की महत्वपूर्ण योजनायें: एक नजर में-महत्वपूर्ण जानकारी

(2020) Mobile apps & web portals

ऐप उद्देश्य/सम्बंधित क्षेत्र
जन-धन दर्शक ऐपबैंकिंग सुविधाओ को आसन बनाने हेतु
सचेत ऐपबैंकों में धोखाधड़ी रोकने हेतु
तेज/भीम ऐपडिजिटल पेमेंट हेतु
दर्पण ऐपडाक बीमा हेतु
पोस्टइन्फो ऐपडाक विभाग से सम्बंधित
आरम्भ ऐपसड़क सुरक्षा हेतु
दिव्यांग सारथि ऐपदिव्यांग व्यक्तियों के सशक्तिकरण हेतु
खान प्रहरी ऐपकोयला चोरी पर नियंत्रण हेतु
उर्जा मित्र ऐपबिजली कटौती के प्रबंधन हेतु
सागरवानी ऐपसागरीय आपातकालीन चेतावनी देने हेतु
रियुनाईट ऐपलापता बच्चों का पता लगाने के लिए
उमंग ऐपई-सरकारी सेवाओं तक आसानी से पहुँच हेतु
समाधान ऐपचुनाव आयोग से सम्बंधित
सी-विजल ऐपचुनाव के दौरान शिकायतें दर्ज करने हेतु
उत्तम ऐपमानव संसाधन विकास मंत्रालय से सम्बंधित
ई-पाठशाला ऐपएनसीइआरटी किताबों के लिए
बोलो ऐपअमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा हेतु
माइस्पीड ऐपइन्टरनेट डाटा की स्पीड जांचने के लिए
आईआरसीटीसीरेलवे से सम्बंधित सेवाओं के लिए
सारथि/मदद ऐपरेलवे से सम्बंधित
मेघदूत ऐपमौसम सम्बंधित पूर्वानुमान हेतु
ई-बीत बुक ऐपविभिन्न जानकारी से सम्बंधित
ई-साथी ऐपपुलिस सहायता से सम्बंधित

प्रमुख ई-पोर्टल

Also, Read👉उत्तर प्रदेश की अंतिम जनगणना रिपोर्ट: 2011-सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

ई-सहज पोर्टलप्राइवेट कंपनियों को सुरक्षा की मंजूरी देने हेतु
पेंसिल पोर्टलबालश्रम पर नियंत्रण हेतु
निदान सॉफ्टवेरबीमारियों की निगरानी हेतु
दीक्षा पोर्टलशिक्षकों के जीवन शैली को डिजिटल बनाने के हेतु
किसान पोर्टलकिसानों की समस्याओं के समाधान हेतु
ई-मंडी पोर्टलकृषिगत वस्तुओं की सरकारी खरीद हेतु
नेशनल स्कोलरशिप पोर्टलक्षत्रवृति सम्बन्धी सेवाओं के लिए
माई-गव पोर्टलसरकारी सेवाओं से सम्बंधित जानकारी हेतु
ई-औषधि पोर्टलआयुष मंत्रालय द्वारा जारी पोर्टल
शगुन पोर्टलस्कूलों को आपस में जोड़ने हेतु (HRD मंत्रालय)

(2020) Mobile apps & web portals launched by Government of India-With Explanation

Also, Read👉भारत की जनगणना 2011 (वन, पशु, व्यक्ति) अदि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

दोस्तों यहाँ पर हमने आप सभी छात्रों के लिए Mobile apps & web portals के बारे में पूरे कम्पलीट Explanation के साथ जानकारी शेयर किया हुवा है. आप सभी इसे पढ़ के आसानी से समझ सकते हैं की कोन सा Mobile apps & web portals किस Field से related है. आप इन सभी Mobile apps & web portals by Government को उस के नाम पर क्लिक कर के उस app और portal को देख भी सकते हैं और App को आप डाउनलोड कर सकते हैं.

👉गर्व ऐप (Grameen Vidyutikaran: GARV): गर्व ऐप यानी ग्रामीण विद्युतीकरण ऐप के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र एवं परिवारों में विद्युतीकरण की निगरानी की जाती है|

👉दिव्यांग सारथी (Divyang Sarathi): केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण मंत्रालय द्वारा दिव्यांग जनों को आसानी से सूचनाएं उपलब्ध कराने के लिए यह ऐप आरंभ किया गया है|

👉ई-सनद (e-Sanad): विदेश जाने वाले लोगों को डिजिटली दस्तावेज प्रमाणन के लिए ई-सनद आरंभ किया गया है इसे मई 2017 में लांच किया गया यह विदेश मंत्रालय की पहल है|

👉ई-उपकरण (e-Upkaran): यह राजस्थान के सभी अस्पतालों में उपकरणों के भंडार प्रबंधन एवं रखरखाव से सुधार का व्यापक सॉफ्टवेयर सलूशन है इसे ईएमएमएस भी कहा जाता है|

Also, Read👉भारत में प्रथम (पुरुष एवं महिला)-प्रतियोगी परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण जानकारी हिंदी में

👉ई-औषधि (e-Aushadhi): यह वेब आधारित दवा आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन एप्लीकेशन है|

Also, Read👉अर्थव्यवस्था सामान्य अध्ययन-Handwritten PDF Notes-Download Now

👉प्रियासॉफ्ट (PRIASOFT): यह पंचायती राज संस्थान लेखा सॉफ्टवेयर है| इसे ई-पंचायत मिशन मोड प्रोजेक्ट के तहत लांच किया गया है|

👉तरंग (TARANG): केंद्रीय विद्युत मंत्रालय का पोर्टल है जिसके द्वारा आने वाली ट्रांसमिशन परियोजनाओं पर नजर रखी जा सकती है|

👉दीप (DEEP: Discovery of Efficient Electricity Price): यह विद्युत मंत्रालय का ई-नीलामी पोर्टल है जिसके माध्यम से मध्यमकालिक विद्युत खरीद (1-5 साल) की जा सकती है|

👉ताम्र पोर्टल (TAMRA): ताम्र (Transparency Auction Monitoring and Resource Augmentation-TAMRA) केंद्रीय खान मंत्रालय का पोर्टल है जिसे 15 फरवरी, 2017 को लांच किया गया है यह भारत में खनन गतिविधियों को बढ़ावा देगा|

👉प्लान प्लस (Plan Plus): यह ई-पंचायत मिशन मोड प्रोजेक्ट है|

👉पेंसिल (Pencil): यह (Platform for Effective Enforcement For No Child Labour) बाल श्रम निरोधक पोर्टल है| इसे केंद्रीय श्रम एवं नियोजन मंत्रालय द्वारा 26 जनवरी 2017 को लांच किया गया है|

👉बंधन तोड़ (Bandhan Tod): यह बिहार सरकार का एंड्रॉयड आधारित मोबाइल एप्लीकेशन है जिसका उद्देश्य बाल विवाह, दहेज प्रथा एवं लौंगिक असमानता के खिलाफ लोगों को जागरुक करना है|

👉उमंग (UMANG): केंद्र, राज्य और यहां तक कि स्थानीय निकायों की सरकारी सेवाओं तक मोबाइल के माध्यम से पहुंचने का साधन है उमंग मोबाइल ऐप|

👉दीक्षा (Diksha): शिक्षकों को अपनी जीवनशैली डिजिटल बनाने के लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा दीक्षा पोर्टल लांच किया गया है|

👉हमराज (Humraaz): भारतीय सेना ने अपने सेवारत्त जवानों को अपनी पोस्टिंग एवं प्रोन्नति से संबंधित सूचनाओं की प्राप्ति के लिए हमराज नामक मोबाइल ऐप लॉन्च किया है|

👉समाधान (Samadhan): यह चुनाव आयोग का मोबाइल ऐप है जहां राजनीतिक दल, नागरिक, चुनाव लड़, रहे उम्मीदवार कोई शिकायत दर्ज कर सकते हैं या सुझाव दे सकते हैं|

👉सुविधा (Suvidha): यह भी चुनाव आयोग द्वारा लांच किया गया मोबाइल एप्लीकेशन है जहां राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि, उम्मीदवार एवं चुनाव एजेंट चुनावी उद्देश्यों के लिए आवेदन कर सकते हैं|

Also, Read👉UP Police Constable Top 100 Question & Answer In Hindi

👉नक्शे (Nakshe): केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा भू-विज्ञान मंत्रालय द्वारा लांच किया गया वेब पोर्टल है इसे सर्वे ऑफ इंडिया की 250 वें स्थापना दिवस पर लॉन्च किया गया|

👉मेरिट (MERIT): Merit Order Despatch of Electricity for Rejuvenation of Income and Transparency-M) विद्युत मंत्रालय का वेब पोर्टल है| राज्यों द्वारा उत्पादित बिजली का मेरिट आर्डर प्रदर्शित करता है|

👉इनाम प्रो प्लस (INAM PRO+): यह केंद्रीय परिवहन मंत्रालय का वेब पोर्टल है| सरकारी एवं निजी खरीद के लिए निर्माण एवं आधांरिक संरचना कच्चा माल ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म है|

👉कोयल मित्र (Koyal Mitra): यह कोयला मंत्रालय का वेब पोर्टल है जिसका उद्देश्य घरेलू कोयला के उपयोग लचीलापन लाना है|

👉तरंग संचार (Tarang Sanchar): दूरसंचार विभाग ने मोबाइल टॉवरों एवं आईएमएफ उत्सर्जन के अनुपालन से संबंधित सूचनाओं को साझा करने के लिए तरंग संचार नामक वेब पोर्टल लांच किया है|

👉हरपथ (Harpath): यह हरियाणा सरकार का मोबाइल ऐप है जिसमें लोग सड़कों की स्थिति के बारे में राज्य सरकार को जानकारी दे सकती है|

👉पीपल फर्स्ट (People First): यह आंध्र प्रदेश सरकार द्वारा आरंभ किया गया मोबाइल ऐप है जो लोगों को शासन के बारे में वास्तविक समय सूचना देकर उन्हें सशक्त करेगा|

👉जन-सुनवाई पोर्टल : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने 25 जनवरी, 2016 को अपने आवास पर ‘जन-सुनवाई’ नामक शिकायत पोर्टल और मीडिया हेल्पलाइन की शुरूआत की| जब सूचना एक जगह एकत्र होगी तो उस तमाम चीजों पर मॉनिटर करके जनता को राहत पहुंचाई जा सकेगी| ‘जन-सुनवाई’ एक समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली है जिस पर मुख्यमंत्री कार्यालय, जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक कार्यालय, तहसील दिवस और ऑनलाइन माध्यम से मिली सभी शिकायतों का निस्तारण होगा| इस प्रणाली में शिकायतें ‘ई-मार्किंग’ के जरिए संबंधित अधिकारियों या विभागों को इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से भेजी जाएगी| इससे घर बैठे ऑनलाइन शिकायत आवेदन किया जा सकेगा और लोगों को किसी कार्यालय जाने की जरूरत नहीं होगी|

👉मेघा-लैंप परियोजना (मेघालय): किसानों को मार्केट लिंकेज प्रदान कर उसकी आय में सुधार के लिए मेघालय के मुख्यमंत्री ने 4 सितंबर, 2015 को मेघा-लैंप परियोजना का उद्घाटन किया| योजना का उद्देश्य पर्वतीय राज्य में पारिवारिक आय तथा जीवन की गुणवत्ता सुधारना है|मेघा-लैंप ‘मेघालय लाइवलीहुडस एंड एक्सेस टू मार्केट प्रोजेक्ट’ प्रमुख कार्यक्रम सतत आजीविका के लिए बाजारों तथा मूल्य श्रंखला के विकास पर ध्यान देता है कथा सुनिश्चित करता है कि यह आजीविकाएं मेघालय के भौगोलिक संदर्भ व जलवायु परिवर्तन के प्रभाव के अनुरूप हो| परीयोजना के तीन घटक हैं- प्रकृतिक संसाधन प्रबंधन एवं खाद्य सुरक्षा, उधम एवं आजीविका विकास तथा ज्ञान प्रबंधन| परियोजना को एकीकृत बेसिन विकास एवं आजीविका कार्यक्रम के अंग के रूप में लागू किया जा रहा है तथा इसे अंतर्राष्ट्रीय कृषि विकास कोष (आईएफएडी) से सहायता मिल रही है| मेघा-लैंप से सभी 39 ब्लाकों में ग्रामीण समुदायों द्वारा 47 हजार उद्यमों का विकास किया जाने और कम से कम 18 ब्लॉकों में 54 मूल्य श्रृंखला एवं आजीविका क्लस्टर स्थापित होने की अपेक्षा है, 1,40,000 परिवार लाभान्वित होंगे|

You May Also Like This

Recent Posts

Friends, if you need an eBook related to any topic. Or if you want any information about any exam, please comment on it. Share this post with your friends on social media. To get daily information about our post please like my facebook page. You can also join our facebook group.