B.Pharma vs D.Pharma in Hindi | Eligibility, Admission, Fee Structure, Differences

B.Pharma vs D.Pharma in Hindi | Eligibility, Admission, Fee Structure, Differences- नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप का sarkaribook के इस ब्लॉग पर आप ने Pharmacy Courses पर और उस से सम्बंधित विभिन्न आर्टिकल हमारे इस वेबसाइट के माध्यम से जरुर देखें होंगे। और आप मे से बहुत से लोगों ने इस से सम्बंधित कई सारे सवाल पूछे, जैसे की हमें B.Pharma करना चाहिए या D.Pharma इन Courses में से कौन सा ज्यादा बेहतर है B.Pharma और D.Pharma में क्या अन्तर है?

B.Pharma vs D.Pharma in Hindi | Eligibility, Admission, Fee Structure, Differences

इस आर्टिकल में मई आप सभी को इन दो अलग अलग courses के बारे में आप के सभी doubts को clear करने की पूरी कोसिस करेंगे। क्यूंकि ये दोनों courses दो अलग- अलग स्तर के हैं, मतलब एक Diploma courses है और एक Bachelor course है इस लिए दोनों के बीच तुलना उचित नहीं है लेकिन उनके हम descriptions, duration’s, legibility conditions, course fee, course curriculum, top colleges, career prospects, job opportunities साथ ही expected salary के आधार पर उनके बीच अंतर कर सकते हैं। एक बार हम जब इन अंतरों से अच्छी तरह से परिचित हो जाते हैं तो हमारे लिए इन दोनों में से एक को चुनना आसन हो जाता हैं।

500 Synonyms and Antonyms MCQs For CDS And NDA Exams

Best Study Material For Defence Aspirants

Pharmacy क्या होता है?

अब समबसे पहले मैंआप सभी को बताना चाहूँगा की Pharmacy क्या होता है? Pharmacy दवाओं की Preparing, dispensing, reviewing और additional clinical services प्रदान करने की science और technique है। यह एक Health profession है जो health sciences को pharmaceutical science से जोड़ता है और इसका उद्देश्य दवाओं के सुरक्षित, प्रभावी और किफायती उपयोग को सुनिश्चित करना है।

B.Pharma Bachelor’s of Pharmacy

सबसे पहले सुरु करते हैं B.Pharma यानि की Bachelor’s of Pharmacy

B.Pharma यानि की Bachelor’s of Pharmacy B.Pharma या Bachelor’s of Pharmacy, graduation level पर Pharmacy का एक programme है।

B.Pharma 2 तरीकों से किया जा सकता है:-

  • पहला regular B.Pharma है जो आप अपनी 12 वीं कक्षा के बाद कर सकते हैं।
  • दूसरा है Lateral entry जो D.Pharma के बाद की जा सकती है। जिसका मतलब है कि D.Pharma के बाद आप B.Pharma के दूसरे वर्ष में सीधे प्रवेश पा सकते हैं।

D.Pharma या Diploma in Pharmacy diploma स्तर का एक full-time course है जो B.Pharma से अलग degree पर Pharmacy सिखाता है।

D.Pharma और B.Pharma Duration

B.Pharma:- Regular B.Pharma की अवधि 4 साल है और B.Pharma (lateral entry) 3 साल की है। यह उस व्यक्ति द्वारा अनिवार्य रूप से किया जाता है जो Pharmacist के रूप में practice करना चाहता हो। D.Pharma:- D.Pharma का course दो साल का है और यह चार सेमेस्टर में divided होता है।

Eligibility Condition for B.Pharma and D.Pharma

B.Pharma में admission पाने के लिए, उम्मीदवार को science stream के साथ अपना 12 वीं कक्षा की हो। कक्षा 12 वीं के छात्र द्वारा चुने गए अनिवार्य विषयों में Physics, Chemistry and Biology or Math में न्यूनतम 50-60% होने चाहिए।

और B.Pharma (Lateral Entry) में admission लेने के लिए आपने की हो D.Pharma 45% और SC/ST category candidates के case में 40% marks के साथ। जबकि D.Pharma में admission पाने के लिए, उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त स्कूल से science stream में PCB या M के साथ न्यूनतम 45-60% अंकों के साथ 12 वीं कक्षा की हो, लेकिन उसने अपनी qualifying examinations में सभी subjects clear किए हों।

Quantitative Aptitude and Reasoning Download For Competitive Exams

Admission process of D.Pharma and B.Pharma

B.Pharma course में admission Pharmacy Entrance Exam में लिए गए Rank के आधार पर होती है जो लगभग सभी reputed pharmacy institutes द्वारा conduct करवाया जाता है।

जबकि D.Pharma course में admission आमतोर पर qualifying exam यानि की 12th class में लिए गए marks के आधार पर होती है। हालांकि कुछ reputed institutes D.Pharma course में admission देने के लिए entrance exam भी लेते हैं।

Course Curriculum of D.Pharma and B.Pharma

B.Pharma में Institute के आधार पर प्रति वर्ष 6-12 subjects को cover किया जाता है और candidatesकी performance को May-June में एक annual examके आधार पर आंका जाता है, जो 80 अंकों का होता है और 10 अंकों की दो sessional exams होते हैं जो की Sep-Jan में आयोजित किए जाते हैं। हालांकि, कुछ college semester wise exam आयोजित करते हैं।

D.Pharma course में कुल 6 विषय शामिल हैं होते हैं, evaluation process लगभग B.Pharma की ही तरह है।

Pharmacy Courses

Course name

Syllabus

Diploma in Pharmacy
  • Pharmaceutics
  • Pharmaceutical Chemistry
  • Pharmacognosy
  • Biochemistry & Clinical Pathology
  • Human Anatomy & Physiology
  • Human Education and
  • Community Pharmacy
  • Pharmacology and Toxicology
  • Pharmaceutical Jurisprudence
  • Drugs Store and Business Management
  • Hospital and Clinical Pharmacy
Pharm. D
  • Human Anatomy and Physiology
  • Pharmaceutics
  • Medicinal Biochemistry
  • Pharmaceutical Organic Chemistry
  • Pharmaceutical Inorganic Chemistry
  • Remedial Mathematics/ Biology
  • Pathophysiology
  • Pharmaceutical Microbiology
  • Pharmacognosy & Phyto-pharmaceuticals
  • Pharmacology
  • Community Pharmacy
  • Pharmaco-therapeutics
  • Pharmaceutical Analysis
  • Pharmaceutical Jurisprudence
  • Medicinal Chemistry
  • Pharmaceutical Formulations
  • Hospital Pharmacy
  • Clinical Pharmacy
  • Biostatistics & Research Methodology
  • Biopharmaceutics & Pharmacokinetics
  • Clinical Toxicology
  • Clinical Research
  • Pharmacoepidemiology and Pharmacoeconomics
  • Clinical Pharmacokinetics & Pharmacotherapeutic Drug Monitoring
B. Pharm
  • Human Anatomy and Physiology
  • Pharmaceutical Analysis
  • Pharmaceutics
  • Pharmaceutical Inorganic Chemistry
  • Communication skills
  • Remedial Biology/Remedial Mathematics
  • Pharmaceutical Organic Chemistry
  • Biochemistry
  • Pathophysiology
  • Computer Applications in Pharmacy
  • Environmental sciences
  • Physical Pharmaceutics
  • Pharmaceutical Microbiology
  • Pharmaceutical Engineering
  • Medicinal Chemistry
  • Pharmacology
  • Pharmacognosy and Phytochemistry
  • Industrial Pharmacy
  • Pharmaceutical Jurisprudence
  • Herbal Drug Technology
  • Biopharmaceutics and Pharmacokinetics
  • Pharmaceutical Biotechnology
  • Quality Assurance
  • Herbal Drug Technology
  • Instrumental Methods of Analysis
  • Pharmacy Practice
  • Novel Drug Delivery System
  • Biostatistics and Research Methodology
  • Social and Preventive Pharmacy
  • Pharma Marketing Management
  • Pharmaceutical Regulatory Science
  • Pharmacovigilance
  • Quality Control and Standardization of Herbals
  • Computer-Aided Drug Design
  • Cell and Molecular Biology
  • Cosmetic Science
  • Experimental Pharmacology
  • Advanced Instrumentation Techniques
  • Dietary Supplements and Nutraceuticals

Fee Structure of D.Pharma and B.Pharma

B.Pharma courses का औसत शुल्क लगभग 40,000/-रु से 6,00,000/- रु government institutes में और private Institute में 80,000/- रु से 1,00,000/- रु प्रति वर्ष होती है।

जबकि D.Pharma courses के फीस थोड़ी कम होती है। इस की लिए आप को सरकारी institutes में 10,000/- रु से 15,000/- रु प्रति वर्ष और private institutes. में 40,000/- रु से 50,000/- रु तक देने पड सकते हैं। Career Prospects and Job Opportunities after B.Pharma and D.Pharma

D.Pharma करने के बाद आप Government के साथ-साथ Private Sector में नौकरी पा सकते हैं। government sector में आपको Hospitals, Clinics, Railways, Medical corps of Armed forces, Employees’ State Insurance Corporation आदि में नौकरी मिल सकती है। और private sector में आपके पास Pharmaceutical companies and Hospitals जैसे Forties आदि में काम करने के अवसर होते हैं।