Career After 12th in Hindi. 12th के बाद क्या करें? कैसे तैयारी करे ?

Career After 12th in Hindi-हैलो दोस्तों, आज के समय में जब कोई छात्र 12th करता हैं तो उसे 12वी के बाद अपने करियर से चिंतित होता हैं, लेकिन अब आपको ज्यादा सोचने की जरुरत नही हैं, आपके पास बहुत से विकल्प है, जिसे चुन कर आप आसानी से 12वी के बाद अच्छा career (Career After 12th) बना सकते हैं.

Career After 12th in Hindi. 12th के बाद क्या करें? कैसे तैयारी करे ?

एक वक्त होता था जब 12वीं करने के बाद छात्रों के पास ज़्यादा Option नहीं हुआ करते थे| जिससे उनको विषय चुनने में problem होती थी, और वो सही विषय का चयन नही कर पाते थे.

स्वतंत्रता के बाद का भारत-सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में-Download in PDF

Best Study Material For Defence Aspirants

12वी के बाद course क्या होना चाहिए(Career After 12th in Hindi)?

Career After 12th in Hindi-12वीं के बाद विभिन्न कोर्सों और विकल्पों में से अपनी पसंद और स्कोप के हिसाब से क्षेत्र चुन सकते हैं, चुनाव करते वक्त छात्रों को यह भी ध्यान रखने की ज़रूरत है वही कोर्स चुने जिसमे संभावनाएं हैं।

कुछ बातें हैं जिनका छात्र कोर्स का चयन करते वक्त ज़रूर ध्यान रखें:

Course After 12th, 12वी के बाद कौन सा कोर्स चुने in hindi.

1- किसी भी course का चुनाव करने से पहले ये यह जाँच ले की उस course के करने से कितना फायदा है और कितना नुकसान है. Course After 12th

2- छात्रों को अपने कॉलेजों में बुलाने के लिए तरह-तरह लुभावने विज्ञापन और कैंपेन चलाए जाते हैं.

3- छात्र अच्छी तरह से जांच-पड़ताल करके ही कोर्स चुनें।

4– कोर्स का चयन करते वक्त छात्र अपनी रुचि का भी ध्यान रखें। यदि आप इंजीनियरिंग और आईटी में करियर बनाने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको सही विषय का चयन करना होगा.

5- अपने दोस्तों या फिर अन्य छात्रों की रूचि देख कर न कोई कोर्स करे या न कोई जॉब करे.

Class 12 के बाद कौन सा Course चुने?

Course after 12:- सभी छात्रो के लिए ये तय कर पाना मुश्किल होता हैं की वे Class 12 के बाद कौन सा course चुने जिससे वो आगे अपने भविष्य में अच्छा मुकाम हासिल कर सके.

नीचे कुछ Course दिए जा रहे है जिसे आप अपने रूचि अनुरूप चुन सकते हैं.

भारत में छात्रों को 10 वीं कक्षा पूरा करने के बाद अपनी योग्यता और ग्रेड के आधार पर एक Streem चुनने की आवश्यकता होती है। लेकिन यह निर्णय लेते एक विषय में उनकी रुचि होनी चाहिए। एक छात्र को हमेशा उस Streem का विकल्प चुनना चाहिए जहां उनकी रुचि निहित हो। इसके अलावा, इन धाराओं में से प्रत्येक में प्रत्येक छात्र के लिए बहुत सारे विकल्प उपलब्ध हैं – विज्ञान, वाणिज्य या कला। यहाँ कक्षा 10 वीं के बाद इन सभी धाराओं का संक्षिप्त विवरण दिया गया है: –

विज्ञान(Science)

विज्ञान स्ट्रीम के छात्रों के पास गणित और जीव विज्ञान से चुनने का अवसर है।

इस प्रकार, विज्ञान धारा को आगे विभाजित किया जा सकता है:

  1. पीसीएम (भौतिकी – रसायन विज्ञान – गणित)
  2. पीसीबी (भौतिकी – रसायन विज्ञान – जीव विज्ञान)

यहाँ उन छात्रों के लिए विशेष रूप से विकल्प मौजूद हैं. जो PCM या PCB का विकल्प चुनते हैं.

कुछ छात्र गणित और Biology दोनों विकल्प चुन लेते हैं. ऐसे विद्यार्थियों के पास PCM और PCB दोनों के विकल्प मौजूद होते हैं.

Indian Penal Code (भारतीय दंड संहिता ) Prelims Pointer by Ghatna Chakra

PCM के साथ 12वी के बाद के पाठ्यक्रम:-

PCM का मतलब भौतिक, रसायन और गणित हैं. English के साथ ये विषय इस stream के लिए आवश्यक होते हैं. यह उन छात्रों के लिए उपयुक्त है जिन्हें गणित विषय में रूचि हैं. और अपना भविष्य इंजीनियरिंग और बी.आर्क में देखते हैं उनके लिए यह पाठ्यक्रम सबसे अच्छा होता हैं.career after 12th

विषय और करियर

  • इंजीनियरिंग (B.E / B.Tech) Engineering (B.E/ B.Tech)
  • बी.आर्क (B. Arch)
  • बी डीज़ आर्क (B. des Arch)
  • एकीकृत M.Sc रक्षा (नौसेना, सेना, वायु सेना)
  • फार्मेसी के स्नातक (Bachelor in Pharmancy)
  • कंप्यूटर एप्लीकेशन में स्नातक (Bachelor in Computer application)
  • नौसेना वास्तुकला और महासागर इंजीनियरिंग में स्नातक (Bachelor in naval architecture and ocean engineering)
  • कमर्शियल पायलट कोर्स(Comercial Pilot course)
  • मर्चेंट नेवी पाठ्यक्रम(Merchant navy course)
  • बीएससी भौतिक विज्ञान (B.Sc. Physics)
  • बीएससी गणित (B.Sc. Maths)
  • बीएससी रसायन विज्ञान (B.Sc. Chemistry)
  • विमान रखरखाव इंजीनियरिंग (Aircraft Maintenance Engineering)

PCB के साथ 12वी के बाद के पाठ्यक्रम:-

PCB का मतलब भौतिक, रसायन और जीव विज्ञान हैं. English के साथ ये विषय इस stream के लिए आवश्यक होते हैं. यह उन छात्रों के लिए उपयुक्त है जिन्हें जीव विज्ञान विषय में रूचि हैं. और जो आगे भविष्य में डॉक्टर, डेंटिस्ट या नर्स में जाने की इच्छा रखते हैं।Career After 12th in Hindi

  • MBBS (Bachelor in medicine and surgery)
  • BAMS (Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery) (आयुर्वेदिक)
  • BHMS (Bachelor of Homeopatic Medicine and Surgery)(होम्योपैथी)
  • BUMS (Bachelor of Uninani Medicine and Surgery) (यूनानी)
  • BDS (Bachelor in Dentist and surgery)
  • पशु चिकित्सा विज्ञान और पशुपालन स्नातक (बी.वी.एससी एएच)
  • प्राकृतिक चिकित्सा और योग विज्ञान (बीएनवाईएस )
  • फिजियोथेरेपी में स्नातक
  • फार्मेसी में स्नातक
  • व्यावसायिक चिकित्सा में स्नातक
  • सामान्य नर्सिंग
  • जैव प्रौद्योगिकी
  • पैरामेडिकल कोर्स
  • बीएमएलटी (मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी)
  • एकीकृत एम. एससी
  • बीएससी मनुष्य जाति का विज्ञान
  • (BSc in Botany) बीएससी वनस्पति विज्ञान
  • बीएससी प्राणी विज्ञान(BSc in Zoology )
  • बीएससी नर्सिंग
  • बीएससी रेडियोग्राफ़
  • बीएससी डेयरी प्रौद्योगिकी
  • बीएससी पोषण और डायटेटिक्स
  • बीएससी गृह विज्ञान
  • बीएससी भाषण और भाषा चिकित्सा
  • बीएससी पुनर्वास चिकित्सा
  • बीएससी व्यावसायिक चिकित्सा
  • बीएससी चिकित्सीय प्रौद्योगिकी
  • बीएससी ऑडियोलॉजी
  • अन्य बी.एससी डिग्री

ART के साथ 12वी के बाद के पाठ्यक्रम:-

  • बीए (राजनीति विज्ञान में ऑनर्स)
  • बीए (समाजशास्त्र में ऑनर्स)
  • बीए (ऑनर्स)
  • बीए (ऑनर्स) मानविकी और सामाजिक विज्ञान
  • बीए (ऑनर्स) सामाजिक कार्य
  • बीए (ऑनर्स) अंग्रेजी
  • बीए कार्यात्मक हिंदी के साथ कार्यक्रम
  • बीए (सम्मान) इतिहास
  • बीए (ऑनर्स) अंग्रेजी पत्रकारिता के साथ
  • बीए (पत्रकारिता)
  • बीए (अंग्रेज़ी)
  • बीए (मीडिया और संचार)
  • बीए (मनोविज्ञान)
  • बीए पर्यटन
  • बीए (परिधान डिजाइन और मर्केंडाइजिंग)
  • बीए (ललित कला)
  • बीए (इतिहास)
  • बीए (भूगोल)
  • बीए (जन संचार)
  • बीए (नागरिक शास्त्र)
  • बीए अर्थशास्त्र
  • बीए LL.B

12 वीं के बाद व्यावसायिक पाठ्यक्रम (विशिष्ट स्ट्रीम नहीं)

इन पाठ्यक्रमों के साथ, छात्र व्यावहारिक ज्ञान प्राप्त करते हैं और एक विशेष कैरियर के लिए तैयारी करते हैं। विभिन्न कार्यक्रम हैं जो छात्रों के लिए फिट हैं और उन्हें नौकरी के लिए तैयार करते हैं। इन पाठ्यक्रमों को चुनने का एक फायदा यह है कि इन्हें ऑनलाइन भी लिया जा सकता है। इसके अलावा, ऐसे कुछ पाठ्यक्रम हैं जो महंगे नहीं हैं और कम अवधि के हैं.

  • B.Des। (गौण डिजाइन)
  • B.Des। (फैशन डिजाइन)
  • B.Des। (कपड़ा डिजाइन)
  • B.Des। (आंतरिक सज्जा
  • B.Des। (सिरेमिक डिजाइन)
  • B.Des। (खेल का प्रारूप)
  • B.Des। (चमड़ा डिजाइन)
  • B.Des। (मल्टीमीडिया डिजाइन)
  • B.Des। (आभूषण और धातु निर्माण डिजाइन)
  • B.Des। (ग्राफ़िक डिज़ाइन)
  • B.Des। (औद्योगिक डिजाइन)
  • एयर होस्टेस
  • एंकरिंग
  • एनिमेशन फिल्म मेकिंग
  • मल्टीमीडिया में उन्नत डिप्लोमा

हमें उम्मीद है कि यहां दी गई Career After 12th in Hindi की जानकारी आपको एक अच्छी तरह से सूचित कैरियर निर्णय लेने में मदद करेगी। इसके अलावा, 12 वीं के बाद टॉप-प्रोफेशनल कोर्सेस की भी जांच करें. यदि आपको ये post अच्छी लगी हो तो शेयर और कमेंट जरूर करे.