रसायन विज्ञान (प्रमुख धातुएं)-प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे गये महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर

0

रसायन विज्ञान (प्रमुख धातुएं)-प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे गये महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर-Hello Friends आज हम आप सभी के लिए रसायन विज्ञान (प्रमुख धातुएं) से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न और उसके उत्तर आप सभी के साथ शेयर कर रहे हैं| दोस्तों आज जो जानकारी हम शेयर कर रहे हैं ये सारे पिछले कई सालों के विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे गये प्रश्न और उसके उत्तर हैं| जो छात्र-छात्राएं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं ओ सभी छात्र इस Post को एक बार अच्छे से जरुर पढ़ें यह से आप सभी के आगनी प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रश्न जरुर पूछे जायेंगे| दोस्तों आप सभी यह जानकारी नीचे बटन पर क्लिक कर के PDF में उनलोड कर सकते हैं|

रसायन विज्ञान (प्रमुख धातुएं)-प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे गये महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर

प्रश्न – विधुत तापी साधन के लिए तापी घटक बनाने के लिए, जिस मिश्रधातु का प्रयोग किया जाता है, वह कौन सी है?(S.S.C संयुक्त हायर सेकेंडरी(10+2) स्तरीय परीक्षा 2013)
उत्तर- नाइक्रोम
व्याख्या- धारा का उष्मीय प्रभाव इलेक्ट्रिक आयरन, रूम हीटर, वाटर हीटर जैसे विधुत तापीय उपकरणों में प्रयुक्त होता है| ये तापन उपकरण उच्च प्रतिरोधी तार की कुंडलियों से संचालित होते हैं जो कि नाइक्रोम मिश्र धातु के बने होते हैं|

प्रश्न- अयस्क के ताप उपचार के प्रयोग को जिसमे गलाना और पकाना शामिल है, क्या कहते हैं?
(S.S.C) संयुक्त हायर सेकेंडरी (10+2) स्तरीय परीक्षा 2015) 
उत्तर- पायरोमेटालर्जी
व्याख्या- पायरोमेटालर्जी खनन धातु विज्ञान की एक शाखा है| इसके अंतर्गत खनिजों और अयस्को के ताप उपचार(जिसमें निस्तापन, गलाना और पकाना एव परिशोधन सम्मिलित है) आते हैं, इसके द्वारा विभिन्न प्रकार के बहुमूल्य धातुओं को प्राप्त किया जाता है| इस प्रक्रम से प्राप्त धातु लोहा , जिंक, क्रोमियम, टिन मैंगनीज आदि है?

प्रश्न- निम्नलिखित में से किस में सिल्वर नहीं होता है?(S.S.C संयुक्त स्नातक स्तरीय(Tier-i) परीक्षा 2013)

  1. जर्मन सिल्वर
  2. हॉर्न सिल्वर
  3. रूवी सिल्वर
  4. लूनर कास्टिक

उत्तर- जर्मन सिल्वर
व्याख्या- जर्मन सिल्वर ताबा(60%),जस्ता (20 %)और निकिल (20%)की मिश्रधातु है|

प्रश्न – अल्युमिनियम किससे प्राप्त की जाती है?(S.S.C मल्टी टास्किंग परीक्षा 2014)
उत्तर- बॉक्साइट
व्याख्या- अल्युमिनियम मुक्त अवस्था में नहीं पाई जाती है| संयुक्त अवस्था में यह धातु विभिन्न अयस्को के रुप में पाई जाती है| अल्युमिनियम के मुख्य खनिज बॉक्साइट, फेलस्पार क्रोमोलाइट आदि है |

प्रश्न- एल्युमीनियम का अयस्क है(S.S.C संयुक्त स्नातक स्तरीय(Tier-I) परीक्षा 2015)
उत्तर- बॉक्साइट
व्याख्या- उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें

प्रश्न- पीतल में क्या होता है?(S.S.C संयुक्त स्तरीय (Tier-I) 2014)
उत्तर- तांबा और जिंक
व्याख्या- पीतल तांबा और जिंक का मिश्रित रूप है| इसमें तांबा और जिंक का अनुपात गुण के आधार पर अलग-अलग रहता है| इसका उपयोग सोने की तरह चमकने के कारण सजावट में किया जाता है| तथा जहां कम घर्सण की आवश्यकता होती है| वहां इसका प्रयोग किया जाता है| जैसे ताले, गियर वाल्व तथा वाद्धयंत्र में| यह अन्य धातुओं से लचीला होता है|

प्रश्न- पीतल किससे बनता है?(S.S.C संयुक्त हायर सेकेंडरी(10+2) स्तरीय परीक्षा 2011)
उत्तर तांबा और जिंक
व्याख्या- उपयुक्त प्रश्न की व्याख्या देखें|

प्रश्न- पीतल किसकी मौजूदगी में निरंतर रहने से वायु में रंगहीन हो जाता है?
(S.S.C संयुक्त स्नातक स्तरीय(Tier-I) परीक्षा 2013)
उत्तर- हाइड्रोजन सल्फाइड
व्याख्या- पीतल Zn एवं Cu नामक धातुओं के संघटन से बना होता है| हाइड्रोजन सल्फाइड की मौजूदगी में Zn हाइड्रोजन से क्रिया करके भद्दे लाल रंग का जिंक हाइड्रॉक्साइड बनाता है एवं Cu सल्फर से क्रिया करके काले रंग का कॉपर सल्फाइड बनाता है| परिणाम स्वरुप पीतल का रंग रंगहीन हो जाता है|

प्रश्न- कांच प्रबलित प्लास्टिक बनाने के लिए किस प्रकार के कांच का प्रयोग किया जाता है?(S.S.C संयुक्त स्नातक स्तरीय(Tier-I) परीक्षा 2011)
उत्तर- रेशा कांच
व्याख्या- कांच प्रबलित प्लास्टिक बनाने के लिए रेशा कांच का प्रयोग किया जाता है|

प्रश्न- ताबा किसके द्वारा शुद्ध होता है?(S.S.C मैट्रिक स्तरीय परीक्षा 2008)
उत्तर-विधुत अपघटन से
व्याख्या- ताबा मुक्त एवं संयुक्त दोनों अवस्था में पाया जाता है| इसका शोधन विधुत अपघटन परिष्करण द्वारा किया जाता है|

प्रश्न- तरल अवस्था में पाई जाने वाली अधातु है?(S.S.C संयुक्त हायर सेकेंडरी(10+2) स्तरीय परीक्षा 2013) 
उत्तर- ब्रोमीन
व्याख्या- ब्रोमीन आवर्त सारणी के सप्तम समूह का तत्व है और सामान्य ताप पर केवल यही अधातु द्रव अवस्था में रहती है|

प्रश्न- धातुओं के पृष्ठ पर एक उपयुक्त तरंगधैर्य का प्रभाव पड़ने पर इलेक्ट्रॉनों के उत्क्षेपड की परिघटना को कहते हैं (s.s.c स्नातक स्तरीय परीक्षा 2006)
उत्तर- प्रकाश -वैधुत प्रभाव
व्याख्या- जब धातुओं के पृष्ठ पर एक उपयुक्त तरंगधैर्य का प्रकाश पड़ता है तब इलेक्ट्रॉन उत्सर्जित होता है| इस परिघटना को प्रकाश वैधुत प्रभाव कहते हैं|

प्रश्न – मुद्रणालय में प्रयुक्त टाइप धातु किसके एलाय है?(S.S.C.CPO परीक्षा 2006 परीक्षा 2006)
उत्तर- शीशा और एंटी मनी
व्याख्या-मुद्रणालय में प्रयुक्त टाइप धातु सीसा एंटी मनी और टिन के एलाय होते हैं जिनकी प्रतिशत मात्रा निम्नलिखित है-

सीसा (लेड) 60-86%
एन्टिमनी 11-30%
टिन 3-20%

प्रश्न- तीव्र सीसा विषात्तन को……… भी कहते हैं?(S.S.C संयुक्त हायर सेकेंडरी(10+2) स्तरीय परीक्षा 2010) 
उत्तर- प्लांबिज्म
व्याख्या- सीसा विषात्तन के फलस्वरुप होने वाली बीमारी को प्लांबिज्म कोनिका पिस्टोनम, सतार्निज्म अथवा पेंटर्स कोलिक कहते हैं|

प्रश्न- अमलगम मिश्र धातु है जिसमें आधार धातु है(S.S.C स्टेनोग्राफर परीक्षा 2012)
उत्तर-पारा
व्याख्या- पारद अन्य धातु के साथ क्रिया करके धातु अमलगम बनाती है| उदाहरण डेंटल अमलगम पोटेशियम अमलगम सोडियम अमलगम गोल्ड अमलगम एल्युमिनियम अमलगम इत्यादि | पारे का उपयोग अमलगम थर्मामीटर और सिंदूर बनाने में किया जाता है|

प्रश्न- बेयर का अभिक्रम क्या होता है?(S.S.C मल्टी टास्किंग परीक्षा 2013)
उत्तर- छारीय पोटेशियम परमैग्नेट
व्याख्या- बेयर का अभिकर्मक छारीय परमैग्नेट (KMno4)है|

प्रश्न- किसी विधुत-अपघटन के असंलग्नता का स्तर किस पर निर्भर है? (S.S.C संयुक्त हायर सेकेंडरी(10+2) स्तरीय परीक्षा 2013) 
उत्तर- तनुता
व्याख्या- किसी विद्युत अपघट्य की असंलग्नता का अस्तर निम्न चीजों पर निर्भर करता है-

  1.  विलय की प्रकृति पर
  2.  विलायक की प्रकृति पर
  3.  तनुता बढ़ने के साथ किसी विधुत- अपघट्य
    की असंलग्नता के स्तर में वृद्धि होती है
  4. तापमान पर
  5. अन्य की उपस्थिति पर

प्रश्न- निम्नलिखित किस कारण से लोहे में जंग लगता है? (SSC संयुक्त हायर सेकेंडरी (10+2) स्तरीय परीक्षा,2011)

  1. ऑक्सीकरण
  2. अपचयन
  3. ऑक्सीजन के साथ रासायनिक अभिक्रिया
  4. CO2 के साथ रासायनिक अभिक्रिया
  1. 1 और 2
  2. 2 और 3
  3. 3 और 4
  4. 1 और 3

उत्तर1 और 3 

व्याख्या- नमी और ऑक्सीजन की उपस्थिति में ऑक्सीकरण की अभिक्रिया के फलस्वरुप लोहे की वस्तुओं के ऊपरी सतह पर एक लाल- भूरे रंग की परत जम जाती है| यह लाल भूरे रंग की परत फेरिक ऑक्साइड (Fe2O3)की होती है|

प्रश्न- लोहे को जंग लगता है(S.S.C.Tax Asst परीक्षा 2007)
उत्तर- ऑक्सीकरण के कारण
व्याख्या- उपयुक्त प्रश्न की व्याख्या देखें|

प्रश्न- लौह धातु में जंग लगने के लिए वायु में इन दोनों की आवश्यकता होती है(S.S.C. संयुक्त स्नातक परीक्षा 2014)
उत्तर- ऑक्सीजन और नमी
व्याख्या- उपयुक्त प्रश्न की व्याख्या देखें

प्रश्न- लोहे में बहुत शीघ्र जंग कहां लगती है?(S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय(Tier-I) परीक्षा 2014) 
उत्तर- समुद्र के जल में
व्याख्या- लोहा जल या हवा की मौजूदगी में जब ऑक्सीजन से अभिक्रिया करता है तो जंग बन जाता है| जंग लोहे के संछारण में अहम भूमिका निभाती है| ऐसा जल जिसमें नमक उपस्थित रहता है उससे लोहे में शीघ्र जंग लग जाती है|

प्रश्न- जब लोहे में जंग लगती है, तो उसका भार(S.S.C मैट्रिक स्तरीय परीक्षा 2008)
उत्तर – बढ़ता है
व्याख्या- लोहे में जंग लगना एक रासायनिक परिवर्तन है| लोहे पर जंग लगने से लोहे का भार बढ़ जाता है| लोहे में जंग लगने से बना पदार्थ फेरसोफेरिक ऑक्साइड होता है| यह भूरी परत के रूप में लोहे पर जम जाती है|

प्रश्न- आयरन को जंग लगने से रोकने के लिए कौन सी प्रक्रिया लाभकारी नहीं है? (S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-1) परीक्षा, 2012)
उत्तर- अनीलंन
व्याख्या- आयरन को जंग लगने से रोकने के लिए पेंट करना ग्रीस लगाना एवं जस्ता चढ़ाना लाभकारी है जबकि की अनीलन की प्रक्रिया कांच में की जाती है| कांच को पिघलाकर सांचे में डालकर धीरे-धीरे शीतलन करने की प्रक्रिया अनीलीकरण कहलाती है |

प्रश्न – जंग से बचाने के लिए लोहे से बने पानी के पाइप पर जस्ते की परत चढ़ाने को क्या कहते हैं?(S.S.C मल्टी टास्किंग परीक्षा 2011)
उत्तर- यशदीकरण
व्याख्या- लोहे की चादर पर जस्ते की परत चढ़ाना यशद लेपन कहलाता है और जिंक की परत पर चढ़े लोहे को गैलवानिकृत लोहा कहते हैं| इस प्रकार के लोहे पर जंग नहीं लगती है|

प्रश्न- जिंक का लेप लगा देने से लोहे में जंग नहीं लगती है इस प्रक्रिया को कहते हैं?(S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय(Tier-I) परीक्षा 2014) 
उत्तर- जस्ता चढ़ाना
व्याख्या- जिंक का लेप लगा देने से लोहे में जंग नहीं लगती है इस प्रक्रिया को जस्ता चढ़ाना कहते हैं|

प्रश्न- यदि किसी व्यक्ति को बंदूक की गोली लगने पर उसके शरीर से सभी गोलियां नहीं निकाली जाती तो किस के कारण उसके शरीर में जहर फैल जाएगा?(S.S.C स्नातक स्तरीय परीक्षा 2010)
उत्तर- सीसा
व्याख्या- यदि किसी व्यक्ति को बंदूक की गोली लगने पर उसके शरीर से सभी गोलियां नहीं निकाली जाती तो सीसा की उपस्थिति के कारण उसके शरीर में जहर फैल जाता है|

प्रश्न- धातुओं का राजा क्या है?(S.S.C. संयुक्त हायर सेकेंडरी(10+2) स्तरीय परीक्षा 2015)
उत्तर सोना
व्याख्या- सोना सभी धातुओं में सबसे बहुमूल्य है| यह किसी मिश्रित धातु से मिलकर नहीं बना होता है| यह येक्वारेजिया में घुलनशील है| 24 कैरेट गोल्ड (Au)को सबसे सुद्ध मन जाता है|

प्रश्न-बाजार में बिकने वाला मानक 18 कैरेट सोना होता है-(S.S.C. परीक्षा 2006) 

उत्तर- 82 भाग सोना और 18 भाग अन्य धातु
व्याख्या- बाजार में बिकने वाले 18 कैरेट सोने में सामान्यता 82 भाग सोना और 18 भाग में अन्य धातु होती है|

प्रश्न- बर्तन बनाने में प्रयुक्त जर्मन सिल्वर एक मिश्रधातु है-(S.S.C.CPO परीक्षा 2007)
उत्तर- कॉपर ,जिंक, निकेल का
व्याख्या- जर्मन सिल्वर में निम्नलिखित धातुएं होती है ताबा 50% जस्ता 35% तथा निकल 15%

प्रश्न- धातुओं का पराशुद्धिकरण किसके द्वारा किया जाता है(S.S.C संयुक्त स्नातक स्तरीय(Tier-I) परीक्षा 2015) 
उत्तर- जोन मेल्टिंग
व्याख्या- धातुओं का पराशुद्धिकरण जोन मेल्टिंग के द्वारा किया जाता है| इस शोधन तकनीक में किसी पिंड के संकीर्ण क्षेत्र को पिघलाकर इसकी अशुद्धियां दूर की जाती है| इस विधि का प्रयोग मुख्यता अर्धचालकों के उद्योगों में जर्मेनियम और सिलिकान के शोधन के लिए किया जाता है| इस प्रक्रिया में शुद्धता स्तर 99 . 99 प्रतिशत से अधिक तक होता है| ट्रांजिस्टर उद्योग में सिलिकॉन और जर्मेनियम का व्यापक प्रयोग किया जाता है|

प्रश्न- निम्न में से किस में शीशे की मात्रा अधिक पाई जाती है?(S.S.C.CPO परीक्षा 2011)
उत्तर- उच्च ऑक्टेन वाला ईंधन
व्याख्या- शीशे की मात्रा उच्चाटन वाला ईंधन में अधिक होती है|

प्रश्न- पाइरेक्स कांच के अधिक सामर्थ्य के लिए निम्न में से क्या उत्तरदायी है?(S.S.C संयुक्त स्नातक स्तरीय(Tier-I) परीक्षा 2011)
उत्तर- बोरेक्स
व्याख्या- पाइरेक्स कांच के अधिक सामर्थ्य के लिए बोरेक्स उत्तरदायी है | बोरेक्स का उपयोग बोरो सिलिकेट कांच के निर्माण में होता है| सर्वप्रथम कार्निग ग्लास वर्क्स कंपनी द्वारा पाइरेक्स कांच का निर्माण किया जाता है|

रसायन विज्ञान (प्रमुख धातुएं)-Live PDF View

You May Also Like This

Friends, if you need an eBook related to any topic. Or if you want any information about any exam, please comment on it. Share this post with your friends in social media. To get daily information about our post please like my facebook page. You can also joine our facebook group.

Disclaimer: Sarkari Book does not own this book, neither created nor scanned. We just provide the link already available on the internet. If anyway it violates the law or has any issues then kindly mail us: [email protected]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here