आधुनिक भारत में शिक्षा का विकास-प्रतियोगी परीक्षा हेतु महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर

0

आधुनिक भारत में शिक्षा का विकास-प्रतियोगी परीक्षा हेतु महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरHello Readers जैसा की आप सभी जानते हैं की हम आप सभी छात्रों के लिए प्रतिदिन Competitive Exams से सम्बंधित जानकारियां शेयर करते हैं| दोस्तों आज हम जो जानकारी आपस सभी के साथ शेयर कर रहे हैं वह “आधुनिक भारत में शिक्षा का विकास” से सम्बंधित है | आप सभी की जानकारी के लिए हम बता दें की इस Post में हमने जितने भी प्रश्न नीचे लिखें है ओ सरे के सरे पिछले कई प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछा जा चुका है, हमने आपस अभी की जानकारी के लिए प्रश्न के सामने उसके पूछे गये वर्ष के बारे में और किस परीक्षा में पूछा गया है ये सारी जानकारी हमने आप सभी को post में दी है| Friends जो छात्र विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं उन सभी के लिए आज का हमारा यह शेयर किया गया जानकारी बहुत ही लाभदायक होगा|

आधुनिक भारत में शिक्षा का विकास

प्रश्न-1- भारत में अंग्रेजो ने प्रथम मदरसा कहां स्थापित किया था? (u.p.p.c.s(pre) 2006)
उत्तर- कोलकाता में
व्याख्या- 1781 में वारेन हेस्टिंग्स ने कोलकाता में मदरसा की स्थापना की थी| इसके प्रथम प्रमुख(नागिन ) मुल्ला मुजदुद्दीन थे यह मदरसे में फारसी अरबी और मुस्लिम कानून पढ़ाया जाता था और इसके स्नातक ब्रिटिश राज मैं दु द्भाषीय के रूप में सहायता करते थे |

प्रश्न-2- एशियाटिक सोसाइटी आफ बंगाल के संस्थापक थे? (u.p.p.c.s.(spl)) 2004
उत्तर- सर विलियम जोंस
व्याख्या- ब्रिटिश सरकार ने प्रारंभ में शिक्षा के विकास में नहीं के बराबर रुचि ली| वारेन हेस्टिंग ने भारतीय शिक्षा के पुनर्जीवन को प्रोत्साहित किया 1781 में उसने कोलकाता मदरसे की स्थापना की जिसमें फारसी और अरबी का अध्ययन किया जाता था| उसने प्राचीन विद्याओं तथा साहित्य को संरक्षण दीया| वह अरबी तथा फारसी जानता था और बंगला बोल सकता था| उसने चार्ल्स बिलकिस के गीता के प्रथम अनुवाद की प्रस्तावना लिखें 1784 में हेस्टिंग्स के सहयोगी विलियम जोश ने एशियाटिक सोसाइटी आफ बंगला की स्थापना की ताकि एशिया के सामाजिक तथा प्राकृतिक इतिहास पुरातत्व संबंधी कला विज्ञान तथा साहित्य का अध्ययन किया जो 1791 में बनारस के ब्रिटिश रेजिडेंट जोनाथन डंकन के प्रयत्नों के फलस्वरुप बनारस में एक संस्कृत कॉलेज खोला गया जिसका उद्देश्य हिंदुओं के धर्म साहित्य और कानून का अध्ययन करना था|

प्रश्न-3- वाराणसी में प्रथम संस्कृत महाविद्यालय की स्थापना किसने की थी? (p.c.s(mains) 2006
उत्तर- जोनाथन डंकन
व्याख्या- उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें

प्रश्न-4-निम्नलिखित में से किसे पेरिस की रॉयल एशियाटिक सोसाइटी की सदस्यता प्रदान की गई थी? (u.p.p.c.s.(mains)) 2007

  • दादा भाई नौरोजी
  • माइकल मधुसूदन दत्त
  • राजा राममोहन राय
  • विवेकानंद

उत्तर- माइकल मधुसूदन दत्त
व्याख्या- पेरिस के रॉयल एशियाटिक सोसाइटी की सदस्यता माइकल मधुसूदन दत्त को प्रदान की गई थी| दादा भाई नौरोजी 1802 – 95 तक ब्रिटिश संसद के सदस्य रहे राजा राममोहन राय ने 1828 में ब्राह्मी समाज की स्थापना की थी स्वामी विवेकानंद ने 18 92 मैं मैं हुई धर्मों की संसद में भाग लिया और 18697 में रामकृष्ण मिशन की स्थापना की |

प्रश्न-4- निम्नलिखित अंग्रेजों में से कौन था जिसने सर्वप्रथम भगवत गीता का अंग्रेजी में अनुवाद किया था? (i.a.s.(pre) 2001)

  • विलियम जोंस
  • चार्ल्स विल्किंस
  • एलेक्जेंडर कनिन्घम
  • जॉन मार्शल

उत्तर- चार्ल्स विल्किंस
व्याख्या- वारेन हेस्टिंग्स के काल में चार्ज विल्किंस ने भगवत गीता का प्रथम आंगन अनुवाद किया जिसकी प्रस्तावना स्वयं वारेन हेस्टिंग ने लिखी वारेन हेस्टिंग की प्रेरणा से विल्किंस हाल हेड है तथा सर विलियम जोंस इतिहास विद्वानों ने प्राचीन भारतीय पुस्तकों का अध्ययन किया तथा उत्तरकालीन प्राच्यविद्या के अध्ययन के कार्य को बढ़ावा दीया|विल्किंस ने फारसी तथा बांग्ला मुद्रण के लिए ढलाई के अक्षरों का आविष्कार किया हाल हेड ने 1778 में संस्कृत व्याकरण प्रकाशित किया|

प्रश्न-5- निम्नलिखित में से किसने कालिदास की प्रसिद्ध रचना शकुंतला का पहली बार अंग्रेजी में अनुवाद किया था?(u.p.u.d,a.\l.d.a(mains)) 2010
उत्तर- सर विलियम जोंस ने
व्याख्या- सर विलियम जोंस वारेन हेस्टिंग के समय कोलकाता उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश नियुक्त हुए| इनकी प्रेरणा पर 1784 में एशियाटिक सोसाइटी की स्थापना हुई एवं यह स्वयं इसके सभापति नियुक्त हुए| इस संस्था ने एशियाटिक रिसर्जेज नामक पत्रिका के माध्यम से भारत के अतीत को प्रकाश में लाने का कार्य किया| इसी क्रम में इन्होंने 1789 में कालिदास रचित अभिज्ञान शाकुंतलम का अंग्रेजी में अनुवाद किया एवं इसके 5 संस्करण प्रकाशित किए|

प्रश्न-6- स्वतंत्रता पूर्व अवधि में ब्रिटिश सरकार द्वारा भारत में आधुनिक शिक्षा के प्रसार का मुख्य उद्देश्य था? (p.c.s.(pre) 2005
उत्तर- छोटे प्रशासनिक पदों पर नियुक्ति हेतु शिक्षित भारतीयों की आवश्यकता
व्याख्या- ब्रिटिश राज द्वारा भारत में अंग्रेजी शिक्षा का प्रसार करवाने के पीछे मुख्य कारण था प्रशासन का खर्च कम करने की चिंता| इसके लिए सरकार शिक्षित भारतीयों की संख्या बढ़ाना चाहती थी जिससे प्रशासन और ब्रिटिश व्यवसायिक प्रतिष्ठानों की छोटे कर्मचारियों की बड़ी और बढ़ती हुई जरूरतों को पूरा किया जा सके|

प्रश्न-7- ब्रिटिश सरकार के किस अधिनियम से सबसे पहली बार भारत में शिक्षा के लिए एक लाख रुपए दिए थे? (u.p.p.c.s.mains) 2009
उत्तर- चार्टर अधिनियम ,1813
व्याख्या- 1813 से पूर्व मिशनरी दलों और कभी-कभी ईस्ट इंडिया कंपनी ने नई शिक्षा प्रणाली लागू करने के लिए प्रयास किए थे परंतु उनकी सम्मिलित उपलब्धि अत्यंत सीमित थी| 1813 चार्टर अधिनियम के तहत कंपनी ने पहली बार शिक्षा के प्रति सरकारी उत्तरदायित्व उठाया| प्रतिवर्ष शिक्षा के लिए एक लाख रुपए खर्च करने की व्यवस्था इस अधिनियम ने की थी|

प्रश्न-8- चार्ल्स वुड आदेश पत्र किससे संबंधित था ?(m.p.p.c.s.(pre)) 2015
उत्तर- शिक्षा
व्याख्या- वुड घोषणा पत्र बोर्ड ऑफ कंट्रोल के प्रधान चार्ल्स वुड द्वारा 19 जुलाई 18 मन को जारी गया था इस घोषणा पत्र में भारतीय शिक्षा पर एक व्यापक योजना प्रस्तुत की गई थी जिसे वुड का डिस्पैच कहां गया100 अनुच्छेद ऑन वाले इस प्रस्ताव| में शिक्षा के उद्देश्य माध्यम सुधारों आदि पर विचार किया गया था इस घोषणा पत्र को भारतीय शिक्षा का मैग्ना कार्टा भी कहा जाता है प्रस्ताव में सरकार ने पाश्चात्य शिक्षा के प्रसार को अपना उद्देश्य बनाया उच्च शिक्षा को अंग्रेजी भाषा के माध्यम से दिए जाने पर बल दिया गया परंतु साथ ही देशी भाषा के विकास को भी महत्व दिया गया इसके अनुसार लंदन विश्वविद्यालय के आधार पर कोलकाता मुंबई एवं मद्रास में एक-एक विश्वविद्यालय की स्थापना की व्यवस्था की गई|

प्रश्न-9- हिंदी का पहला समाचार पत्र मार्तंड( 30 मई 1826) प्रकाशित हुआ था ? (u.p.p.c.s(mains) 2016)
उत्तर- कोलकाता से
व्याख्या- उदत्त मार्तंड हिंदी का पहला समाचार पत्र था इसका पराग प्रकाशन मई 1826ई मैं कोलकाता से एक साप्ताहिक पत्र के रूप में शुरू हुआ| इसके प्रकाशक एवं संपादक जुगुल किशोर शुक्ल थे|

प्रश्न-10- हंटर कमीशन की रिपोर्ट मैं विकास पर विशेष जोर दिया गया (u.p.p.c.s(pre) 2004)
उत्तर- प्राथमिक शिक्षा को
व्याख्या- 1854 के पश्चात शिक्षा के क्षेत्र में हुई प्रगति की समीक्षा करने के लिए 1882 में w w हंटर की अध्यक्षता में एक आयोग नियुक्त किया गया इसका कार्य विश्वविद्यालयों के कार्यों की समीक्षा करना नहीं था इसे केवल प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा की समीक्षा तक ही सीमित रहना था इस आयोग की रिपोर्ट में प्राथमिक शिक्षा के सुधार एवं विकास पर विशेष जोर दिया गया था|

प्रश्न-11- नेशनल काउंसिल आप एजुकेशन की स्थापना कब हुई? 53rd to 55th B.P.S.C.(Pre) 2011
उत्तर- 15 अगस्त 1980
व्याख्या- राष्ट्रीय शिक्षा के क्षेत्र में सर्वप्रथम 18 नवंबर 1950 को रंगपुर नेशनल स्कूल की स्थापना हुई| 16 नवंबर 1992 कोलकाता में एक सम्मेलन का आयोजन किया गया| इस सम्मेलन में राष्ट्रीय साहित्य वैज्ञानिक और तकनीकी शिक्षा देने के लिए राष्ट्रीय शिक्षा परिषद स्थापित करने का फैसला हुआ|
15 अगस्त 1980 को सद्गुरु दास बनर्जी द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा परिषद की स्थापना की गई अतः विकल्प भी सही है|

प्रश्न-12- सैडलर आयोग संबंधित था (uplower sub.pre ) 2010
उत्तर- शिक्षा से
व्याख्या- सैडलर आयोग शिक्षा से संबंधित 1917 में सरकार ने कोलकाता विश्वविद्यालय के संभावनाओं के अध्ययन तथा रिपोर्ट के लिए एक आयोग नियुक्त किया डॉ. एम. ई. सैडलर जो लीड्स विश्वविद्यालय के उप कुलपति थे इसके अध्यक्ष नियुक्त किए गए इस आयोग के सदस्य दो भारतीय डा. रियाजुद्दीन अहमद भी थे इस आयोग को कोलकाता विश्वविद्यालय के शिक्षा पर अपनी रिपोर्ट देने को कहा गया था इस आयोग का यह विचार था कि यदि विश्वविद्यालय शिक्षा का सुधार करना है तो माध्यमिक शिक्षा का सुधार आवश्यक है इसने 1904 के विश्वविद्यालय अधिनियम की कड़ी निंदा की और यह भी बताया कि इससे कालेज तथा विश्वविद्यालय शिक्षा का ठीक ठीक समन्वय नहीं हो सकता है| यद्यपि यह रिपोर्ट केवल कोलकाता विश्वविद्यालय के विषय में थी तुरंत या अन्य विश्वविद्यालयों के विषय में भी सत्य थी|

प्रश्न-13- लार्ड मैकाले संबंधित है (u.p.p.c.s.(pre)) 2007)
उत्तर- अंग्रेजी शिक्षा से
व्याख्या- भारतीय शिक्षा पद्धति में भाषा संबंधी विवाद पर अपना विवरण देने के लिए विलियम बेसिक ने अपनी कोशिल के विधि सदस्य लाड में काले को लोक शिक्षा समिति का प्रमुख नियुक्त किया मेकाले ने भारत में शिक्षा हेतु अंग्रेजी भाषा का समर्थन किया गया|

प्रश्न-14- भारत के औपनिवेशिक काम में अधोमुखी निस्यंदन सिद्धांत किस क्षेत्र से संबंधित था? (r.a.s,rt.s(pre) 2013)
उत्तर- शिक्षा
व्याख्या- भारत के औपनिवेशिक काल में अधोमुखी निस्यंदन सिद्धांत शिक्षा के क्षेत्र से संबंधित था इस सिद्धांत का अर्थ था कि शिक्षा समाज के उच्च वर्ग को ही दी जाए इस वर्ग से छन छन कर ही शिक्षा का असर जन सामान्य तक पहुंचे मैकाले का कहना था कि साधनों से समस्त जनता को शिक्षित करना असंभव है|

प्रश्न-15- भारत में आधुनिक शिक्षा प्रणाली की नींव किससे पड़ी? (i.a.s(pre)) 1993) 
उत्तर- 1835 के मैकाले के स्मरण पत्र
व्याख्या- भारत में आधुनिक शिक्षा प्रणाली की नींव 1835 के मेकाले के स्मरण पत्र से पढ़ी| मेकाले ने भारतीय रीति-रिवाजों के लिए अपना तिरस्कार इन शब्दों में व्यक्त किया| यूरोप के एक अच्छे पुस्तकालय की एक अलमारी एक भारत और अरब के समस्त साहित्य से अधिक मूल्यवान है| लॉर्ड विलियम बेटी के काल में 7 मार्च 1835 के प्रस्ताव द्वारा मैकाले का लिस्ट को अपना लिया गया|

प्रश्न-16- किसके शासनकाल में भारत में अंग्रेजी शिक्षा आरंभ की गई? (u.p.p.c(mains)) 2011)
उत्तर- लॉर्ड विलियम केवेडिस बेटिक
व्याख्या- गवर्नर जनरल लार्ड विलियम केवेडिस बेटिक (1828- 35)ई के शासनकाल में 7 मार्च 1835 को लार्ड मैकाले
के प्रस्ताव को स्वीकृत कर भारत में अंग्रेजी को उच्च शिक्षा का माध्यम मान लिया गया| भारत में आंग्ल शिक्षा के समर्थकों का नेतृत्व मुनरो एवं एलफिस्टन ने किया था जबकि एच. टी. प्रिसेप प्राच्य शिक्षा के समर्थकों के नेतृत्वकर्ता थे|

प्रश्न-17- भारत में प्रथम तीन विश्वविद्यालय की स्थापना किस वर्ष में हुई? (r.a.s./r.t.s(pre) 2010)
उत्तर- 1857
व्याख्या- भारतीय शिक्षा का मैग्ना कार्टा कहे जाने वाले 1854 के चार्ल्स बुद के डिस्पैच को आधार बनाकर लंदन विश्वविद्यालय की तर्ज पर ब्रिटिश भारत में तीन विश्वविद्यालय कलकत्ता मद्रास और बंबई की स्थापना 1857 में की गई थी|

प्रश्न-17- किसके सतत प्रयत्न से मुंबई में प्रथम महिला विश्वविद्यालय की स्थापना हुई? (u.p.p.s.c(gic)) 2010)
उत्तर- डी. के. कर्वे
व्याख्या- डी. के. कर्वे के प्रयत्नों से मुंबई में प्रथम महिला विश्वविद्यालय की स्थापना हुई| यह महाराष्ट्र के समाज सुधारक एवं सामाजिक कार्यकर्ता है
कार्यकर्ता थे इन्होंने विधवाओं के उत्थान के लिए विधवा विवाह प्रतिबंध निवारक मंडली की भी स्थापना की थी 1896 में उन्होंने पुणे में विधवा ग्रह की स्थापना की थी उन्होंने स्वयं एक ब्राह्मणी विधवा से विवाह किया था 1958 में इन्हें भारत रत्न प्रदान किया गया|

प्रश्न-18- डेक्कन एजुकेशन सोसाइटी की स्थापना से कौन संबंधित था? (u.p.p.c.s) 2013
उत्तर- बी. जी. तिलक
व्याख्या- डेक्कन एजुकेशनल सोसाइटी की स्थापना वर्ष 1880 में मुल्तान न्यू इंग्लिश स्कूल के प्रारंभ के साथ पुणे में की गई थी तथा वर्ष 1884 में डेक्कन एजुकेशन सोसाइटी औपचारिक रूप से गठित की गई| इस संस्था के संस्थापकों में बी. के. चिपलूनकर बी. जी. तिलक एव एम. बी. नाम जोशी प्रमुख थे अतः विकल्प ही सही है जस्टिस रानाडे इस सोसाइटी के संस्थापक नहीं बल्कि इसके 5 संरक्षकों में से एक थे?

प्रश्न-19- निम्नलिखित में से किसने भारतीय विश्वविद्यालयों में धार्मिक शिक्षा के लिए प्रबल रूप से वकालत की थी?(u.p.p.c.s(mains)) 2005
उत्तर- मदन मोहन मालवीय
व्याख्या- भारतीय विश्वविद्यालयों में धार्मिक शिक्षा के लिए मदन मोहन मालवीय ने प्रबल रूप से वकालत की थी| मदन मोहन मालवीय अग्रणीय राष्ट्रवादी तथा देश भक्त थे| मैं आरंभ में एक स्कूल अध्यापक तथा बाद में व्यवसाय से वकील रहे| इन्होंने 1916 में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना की और 1919 से 1938 तक इसके कुलपति बने रहे| इन्होंने हिंदी और अंग्रेजी में हिंदुस्तान दी इंडिया यूनियन अभ्युदय मर्यादा तथा किसान नामक पत्र पत्रिकाएं प्रकाशित की|

प्रश्न-20- बनारस हिंदू विश्वविद्यालय का शिलान्यास निम्न में से किसने किया था|(u.p.p.c.s(mains) 2003)
उत्तर- लॉर्ड हार्डिंग 
व्याख्या- बनारस हिंदू विश्वविद्यालय का शिलान्यास 4 फरवरी 1916 को बसंत पंचमी के दिन तत्कालीन वायसराय लार्ड हार्दिक द्वारा किया गया था|

प्रश्न-21- निम्नलिखित में से किसे सर्वप्रथम केंद्रीय विश्वविद्यालय घोषित किया गया? (u.p.p.c.s(mains) 2011)

  • अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय अलीगढ
  • डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय लखनऊ
  • बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय वाराणसी
  • इलाहबाद विश्वविद्यालय

उत्तर- बनारस हिंदू विश्वविद्यालय वाराणसी
व्याख्या- दिए गए केंद्रीय विश्वविद्यालयों में से बनारस हिंदू विश्वविद्यालय वाराणसी को सबसे पहले केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा प्राप्त किया गया था| इसकी स्थापना का श्रेय 1916 ई मैं महा मना मदन मोहन मालवीय जी को जाता है|

You May Also Like This

Friends, if you need an eBook related to any topic. Or if you want any information about any exam, please comment on it. Share this post with your friends in social media. To get daily information about our post please like my facebook page. You can also joine our facebook group.

Disclaimer: Sarkari Book does not own this book, neither created nor scanned. We just provide the link already available on the internet. If anyway it violates the law or has any issues then kindly mail us: sarkaribook.com@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here