KCC क्या है? Kishan Credit Card से कैसे लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

0

KCC क्या है?:- भारत सरकार ने किसान भाइयों के लिए अनेक परियोजनाएं चलाई हैं। इन परियोजनाओं में से एक परियोजना किसान क्रेडिट कार्ड पर योजना भी है। जिसके अंतर्गत किसान भाइयों को किसान से संबंधित वस्तुओं को खरीदने के लिए बैंक द्वारा लोन दिया जाता है। जिससे किसान अपने खेती से जुड़े समस्याओं को सरकार द्वारा दिए जाने वाले वित्तीय सहायता से हल कर सकते हैं। किसान क्रेडिट कार्ड के द्वारा किसानों को कम ब्याज पर कर्ज दिया जाता है। सरकार द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड पर दिया जाने वाला कर्ज पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के साथ जोड़ दिया गया है। भारत के किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत तथा उन पर कर्ज के बोझ को कम करने के लिए सरकार यह कदम उठा रही है।

KCC क्या है? Kishan Credit Card से कैसे लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड की शुरुआत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बीते कुछ महीनों पहले के थे। निर्मला सीतारमण ने अपनी वित्तीय बजट में घोषणा की कि देश के लगभग 2.5 करोड़ किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के द्वारा कर्ज दिया जाए। जिसके द्वारा भारतीय किसान खेती के लिए बैंक से ₹200000 तक की राशि को ले सकते हैं।

Best Study Material For Defence Aspirants

Kishan Credit Card क्यों जरूरी है?

भारत सरकार द्वारा चलाए गए किसान क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ उठाते हुए पिछले 2 महीने में लगभग 2500000 से भी अधिक किसानों ने क्रेडिट कार्ड बनवाया है। किसानों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड बेहद जरूरी है क्योंकि इसकी मदद से किसान खेती से जुड़े उपकरण तथा फसलों के बचाव और रखरखाव के लिए सरकार द्वारा दी जाने वाली वित्तीय सहायता को बैंक से लोन के रूप में ले सकते हैं। और अपनी किसी से जुड़ी समस्याओं को हल कर सकते हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड क्या है? (KCC क्या है?)

KCC क्या है?:- Kishan Credit Card(KCC), किसानों को लोन देने के लिए दिया जाने वाला कार्ड है। जिसके द्वारा किसान अपने खेत से संबंधित समस्याओं को हल कर सकता है। किसान क्रेडिट कार्ड बैंक द्वारा जारी किया जाता है। किसान क्रेडिट कार्ड की शुरुआत सर्वप्रथम 1998 में की गई थी। इस समय किसान क्रेडिट कार्ड की शुरुआत रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया तथा नाबार्ड ने साथ मिलकर सहयोग दिया। आज के वर्तमान समय में भारत देश के लगभग 6.92 करोड़ किसानों के पास यह कार्ड बना हुआ है। किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने का मतलब किसानों को एक डेबिट कार्ड दिया जाना है। किसके द्वारा किसान अपने जरूरत के हिसाब से खाते से पैसा निकाल सकते हैं।

इस परियोजना का मकसद केवल किसानों को खेती से संबंधित वस्तुएं जैसे कीटनाशक दवाइयां खाद बीज इत्यादि वस्तुओं को खरीदने के लिए कर्ज देना है। किसान क्रेडिट कार्ड द्वारा जारी किया जाने वाला कर्ज यदि समय से पहले या समय तक चुका दिया जाए तो यह दो से 4% तक सस्ता होता है।

योजना का नामकिसान क्रेडिट कार्ड योजना
कार्ड का नामकिसान क्रेडिट कार्ड (KCC)
कार्ड की अवधि5 वर्ष तक मान्य
आवेदन का तरीकाऑफलाइन , बैंक द्वारा बनाया जाता हैं|
लोन की राशि₹200000 तक (शुरुवात में), Renewal करवाने पर ₹400000 तक
ब्याज9.50 % से 11.50 % तक

किसान क्रेडिट कार्ड कहां से बनवाएं

Kishan Credit Card बनवाने के लिए किसान भाइयों को स्वयं बैंक में जाकर आवेदन करना होता है। सरकार द्वारा प्रस्तावित बैंकों के द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड बनवाया जा सकता है। भारत सरकार ने निम्न बैंकों को किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के लिए अधिकार दिया है।

  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • स्टेट बैंक इंडिया
  • को ऑपरेटिव बैंक
  • इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बैंक ऑफ़ इंडिया
  • नेशनल पेमेंट्स कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया
Related Posts
1 of 174

Kishan Credit Card कैसे बनवाएं।

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसानों को सहज जन सेवा केंद्र या सीएससी केंद्र पर जाकर किसान क्रेडिट कार्ड का फॉर्म लेना होगा। किसान क्रेडिट कार्ड का फॉर्म प्रधानमंत्री किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट www.pmkisan.gov.in पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं। डाउनलोड करने के पश्चात फॉर्म का प्रिंट आउट लेकर फॉर्म में उपस्थित सभी जानकारियों को सही सही भरने के बाद आवेदन पत्र के साथ जरूरी दस्तावेजों को लेकर बैंक में जमा कर दें। आवश्यक दस्तावेजों में किसान भाइयों को जमीन के डाक्यूमेंट्स तथा फसल की डिटेल के अतिरिक्त आधार कार्ड तथा बैंक खाते का विवरण देना होता है। आवेदन पत्र के साथ डॉक्यूमेंट को लगाकर ऊपर दिए हुए किसी भी बैंक में जाकर डाक्यूमेंट्स को जमा कर सकते हैं। किसान क्रेडिट कार्ड जारी होने के पश्चात इस कार्ड की वैलिडिटी 5 वर्ष की होती है।

Official Website- Click Here

लोन देने से पहले किसान का वेरिफिकेशन

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के पश्चात लोन लेने के लिए बैंक किसान का वेरिफिकेशन करते हैं। बैंक द्वारा किसानों का वेरिफिकेशन करते समय किसान की पहचान तथा उसके राजस्व रिकॉर्ड की जांच की जाती है। पहचान के लिए बैंक किसानों के आधार कार्ड तथा पैन कार्ड के साथ फोटो जमा करवाते हैं। इन डाक्यूमेंट्स के अतिरिक्त बैंक किसान भाइयों से एक एफिडेविट बनवाते हैं जिससे यह सत्यापित किया जाता है कि किसान द्वारा कोई भी कर्ज, बैंक में बकाया तो नहीं है। भारत सरकार ने बैंक द्वारा जारी किए जाने वाले किसान क्रेडिट कार्ड पर खर्च होने वाली फीस और चार्ज को भी माफ कर दिया है। दरअसल किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसान भाइयों पर लगभग ₹2000 से ₹5000 का खर्च आता था।

Kishan Credit Card का लाभ कौन ले सकता है?

किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ लेने के लिए सरकार द्वारा निम्न प्रावधान लगाए गए हैं।

  • मछली पालन, पशुपालन तथा खेती से जुड़ा कोई भी व्यक्ति किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकता है।
  • यदि कोई किसान अपनी या किसी और की जमीन पर खेती कर रहा है तो भी वह किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ उठा सकता है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसान की उम्र न्यूनतम 18 एवं अधिकतम 75 वर्ष होनी चाहिए।
  • जिन किसानों की उम्र 60 वर्ष से अधिक हैं| उन्हें बैंक को एक एप्लीकेशन देना होता है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड का फॉर्म जमा करते समय बैंक कर्मचारी आपकी निरीक्षण करता है, और यह निश्चित करता है कि आप कार्ड के लिए योग्य है या नहीं।
  • मछली पालन एवं पशुपालन के लिए किसान क्रेडिट कार्ड के द्वारा ₹200000 तक का कर्ज दिया जा सकता है।
  • ऊपर के दस्तावेजों को जमा करने के पश्चात किसान को किसान क्रेडिट कार्ड दे दिया जाता है।

Kishan Credit Card के फायदे

किसान क्रेडिट कार्ड प्राप्त होने के बाद किसान इस कार्य से निम्न फायदा उठा सकते हैं।

  • किसान इस कार्ड के माध्यम से खेती से जुड़े जरूरी वस्तुओं को खरीद सकता है।
  • इस कार्ड के द्वारा बिना किसी सिक्योरिटी के लोन मिल जाता है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड के द्वारा 1.60 लाख रुपए कानून बिना किसी सिक्योरिटी के दिया जाता है।
  • ₹300000 तक का लोन लेने पर किसानों को सालाना 2% तक ब्याज में छूट दी जाती है।
  • यदि लोन को समय से पहले चुका दिया जाए तो सालाना ब्याज पर 3% की छूट दी जाती है।
  • अलग-अलग बैंकों के द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज दरें भिन्न-भिन्न होती हैं।
  • यदि खेती में किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा के चलते फसल नष्ट होती है तो किसान को फसल का बीमा कवर भी दिया जाता है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड में प्रत्येक वर्ष रिनुअल करवाने पर 10% बढ़ोतरी के साथ 5 वर्षों तक लोन दिया जा सकता है।

How to apply for PM Kishan Scheme. PM किसान के लिए कैसे आवेदन करें।

दोस्तों आज के लेख में हम किसन क्रेडिट कार्ड (KCC क्या है?) द्वारा लोन कैसे लिया जाता है इसके बारे में जानकारी दें। जिन किसान भाइयों को बैंक द्वारा अपनी फसल के लिए लोन लेना है वह ऊपर दिए गए प्रक्रियाओं के द्वारा बैंक में जाकर किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं, और सरकार द्वारा दी जाने वाली वित्तीय सहायता का लाभ उठा सकते हैं। यदि आपको या जानकारी पसंद आई हो तो आप ही अपनी राय हमारे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। तथा इस जानकारी को दूसरे लोगों तक अवश्य शेयर करें।