Magnetic Levitation क्या है जिसके सिद्धांत पर बुलेट ट्रेन चलती है?

Magnetic Levitation theory:- दोस्तों आज के लेख में हम Magnetic Levitation या Magnetic suspention के बारे में आपको बताएंगे| हम कई सालों से देखते और सुनते आ रहे हैं, कि जापान में सबसे तीव्र गति वाली ट्रेनें पटरियों पर दौड़ रही हैं|इसी प्रकार चीन में भी बहुत सी ऐसी ट्रेनें हैं, जो अधिक गति के साथ पटरियों पर दौड़ती हुई देखी जाती है| किंतु क्या आपको यह पता है कि आखिर या कैसे होता है और इसको बनाने में वैज्ञानिक किस सिद्धांत का प्रयोग करते है तो आइए जानते हैं कि विकसित देशों ने कैसे चुंबक का प्रयोग करके अपने यातायात के साधनों में गति बढाई हैं|

Magnetic Levitation क्या है जिसके सिद्धांत पर बुलेट ट्रेन चलती है?

आज हम बात करेंगे कि किस प्रकार से Magnetic Levitation का प्रयोग करके आप किसी भी वस्तु को हवा में बिना किसी आधार के लटका सकते हैं| तो आपका ज्यादा समय न लेते हुए आज का आर्टिकल शुरू करते हैं|

आप IAS कैसे बनेंगे ? IAS की परीक्षा में सफल होने के सूत्र -Download eBook in Hindi

Best Study Material For Defence Aspirants

Magnetic Levitation क्या हैं ?

दोस्तों, सबसे पहले हम जानेंगे कि विकसित देश Magnetic Levitation का प्रयोग करके कैसे अपने यातायात के साधनों को अधिक गति देते हैं|

Magnetic Levitation क्या हैं ?

किसी वस्तु को केवल चुंबकीय बल के द्वारा हवा में लटकाने की क्रिया Magnetic Levitation कहलाती है| इस प्रक्रिया में वस्तु पर लगने वाले पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल एवं अन्य भौतिक बलों को चुंबकीय बल के द्वारा संतुलित किया जाता है| जिससे वस्तु बिना किसी आधार के हवा में लटकी रहती है और हवा में ही लटके हुए आगे की ओर बढ़ती है|जिससे हमें घर्षण बल की वजह से गति कम होने की समस्या से निजात मिल जाती हैं|

Magnetic Levitation बनाने के लिए दो मुख्य अंग हैं |

  1. रीजेनरेशन (Regenration)
  2. सस्टेनेबिलिटी (Sustanibility)

1- रीजेनरेशन (Regenration):-

Regeration के द्वारा किसी भी वस्तु को गुरुत्वाकर्षण बल के विपरीत चुंबकीय बल के द्वारा हवा में ऊपर उठाया जाता है| जिससे वस्तु हवा में लटकती हुए दिखाई देती है|

2- सस्टेनेबिलिटी (Sustanibility):-

Sustanibility यह सुनिश्चित करती है कि चुंबकीय बल के द्वारा उठायी गयी वस्तु चुंबकीय क्षेत्र से बाहर ना जाने पाए| इस सिद्धांत का उपयोग Magnetic Levitation से चलने वाली रेलगाड़ियों एवं हवा में उड़ने वाले वस्तुओं के प्रदर्शन में किया जाता है|

Bullet train में Magnetic Levitation Theory कैसे काम करती हैं?

आपको यह जानकर अचरज होगा कि आखिर कैसे इतनी भारी-भरकम रेलगाड़ी, बिना पहिये के आखिर कैसे चलती है? असल में यह सब चमत्कार विद्युत चुंबकीय सिद्धांत की देन है| बिना पहिया की ट्रेनों को चलाने के लिए लोहे की पटरियों के बजाय नई तरह से चुम्बक से बनी पटरिया बिछाई जाती हैं|

दोस्तों अब आपके दिमाग में यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि चुम्बक से बनी पटरिया आखिर इतनी शक्तिशाली कैसे हो जाती हैं? तो हम आपको इस सवाल का जवाब जरूर देंगे तो आइए जानते हैं कि आखिर यह चुंबक इतना शक्तिशाली कैसे हो जाता है?

दोस्तों जैसा कि हम जानते हैं कि चुंबक के सिरे को ध्रुव कहते हैं| किसी भी चुंबक के दो ध्रुव होते हैं-

  1. उत्तरी ध्रुव
  2. दक्षिणी ध्रुव

यह पृथ्वी के ध्रुव के नाम के अनुसार रखे गए हैं| चुंबक के विपरीत ध्रुव एक दूसरे को आकर्षित करते हैं, जबकि समान ध्रुव एक दूसरे को प्रतिकर्षित करते हैं|

पटरी पर लगे इलेक्ट्रोमैग्नेटिक गुण के द्वारा तीव्र चुंबकीय बल पैदा होता है जिसके रेलगाड़ी हवा में कुछ सेंटीमीटर ऊपर उठ जाती है, और चुंबको के कारण हवा में तेजी से आगे की ओर बढ़ती है |दरअसल होता यह है कि पटरी और रेल गाड़ी पर लगे चुंबको के कारण आकर्षण और प्रतिकर्षण बल पैदा होता है| जिसके कारण रेलगाड़ी हवा में सरकती चली जाती है|
इलेक्ट्रोमैग्नेटिक क्षण भर के लिए चुंबकीय क्षेत्र को पलट देते हैं तो तेज प्रतिकर्षण बल पैदा होता है जिससे रेलगाड़ी हवा में उठी रहती है| जब एक बार फिर चुंबकीय क्षेत्र को बदल देते हैं तो रेलगाड़ी फिर से आगे की ओर चली जाती है इस क्रिया को लगातार कई बार करने पर रेलगाड़ियों की गति अधिक हो जाती है|

Bullet train की गति का रहस्य:-

दोस्तों, जब कभी किसी सुचालक वस्तु पर तांबे के तार लपेटकर उस में बिजली का करंट दिया जाता है| तो उसके चारों ओर एक अदृश्य चुंबक क्षेत्र बन जाता है जिसे विद्युत चुंबकीय क्षेत्र कहते हैं| किसी लंबे सीधे तार के बजाय स्प्रिंग के रूप में मुड़ा हुआ तार अधिक शक्तिशाली चुंबकत्व पैदा करता है|

जब लोहे की छड़ के चारों ओर प्लास्टिक चढ़े तार की एक कुंडली लपेटी जाती है, और उसके दोनों सिरे को बैटरी से जोड़ दिया जाता है और स्विच ऑन करते ही उस कुंडली में बिजली दौड़ने लगती है, और कुंडली के भीतर लगी हुई लोहे की छड़ शक्तिशाली चुंबक बन जाती है| जैसे ही स्विच ऑफ किया जाता है लोहे की छड़ का चुंबकत्व समाप्त हो जाता है| चुंबकीय शक्ति के द्वारा चलने वाली मैग्लेव रेलगाड़ियों का रहस्य यही है|

Train में Magnetic Levitation के लाभ:-

  • Magnetic Levitation की मदद से रेलगाड़ी में यात्रा करने से काफी समय की बचत हो जाती है|
  • रेलगाड़ियों की परियों में टूटने या फूटने जैसी कोई भी आशंका नहीं रह जाती|
  • रेलगाड़ी की पटरियों के मेंटेनेंस का कोई भी झंझट नहीं रहता|
  • इन गाड़ियों का कुल संचालन व्यय अन्य परंपरागत रेलगाड़ियों की तुलना में कम होता है|
  • इन रेलगाड़ियों को सिग्नल देने के लिए मनुष्यों की आवश्यकता नहीं होती|
  • रेलगाड़ी के शोर को कम कर देता हैं|

What is National Commission on Farmers-Swaminathan Report?

विभिन्न देशों के super fast trains जो Magnetic Levitation theory पर काम करती हैं:-

train के नामअधिकतम गति (km/h)संचालन तिथि
Acela (USA)2662000-2020
Afrosiyob (Uzbekistan)2502011
Avelia (France)3502023
CRH380D and DL(China)4832012
ETR 1000(Trenitalia)393.82015
Bullet train(Japan)6002027
Rajdhani (India)2201969