Salary of DM and Job Profile, एक District Magistrate का वेतन कितना होता है

0

Salary of DM and Job Profile:- दोस्तों, जब कोई जिले में किसी भी प्रकार की घटना होती है, और वह पुलिस कर्मचारियों द्वारा नियंत्रण में नहीं आती तब जिले का मुखिया जिसे डिस्टिक मजिस्ट्रेट कहते हैं वह उस घटना वाले स्थल पर जाकर समस्या को हल करने की कोशिश करते हैं। किंतु क्या आप जानते हैं कि डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट कौन होते हैं और इनको अपने पद पर रहकर कौन-कौन से कार्य करने पड़ते हैं। आपको शायद यह भी मालूम नहीं होगा कि इनको कार्य करने के लिए सरकार द्वारा कितना वेतन दिया जाता है। यदि आप ही इन जानकारियों से अवगत होना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

Salary of DM and Job Profile, एक District Magistrate का वेतन कितना होता है

आज के लेख में हम आपको डीएम अर्थात डिस्टिक मजिस्ट्रेट के कार्य तथा वेतन के बारे (Salary of DM and Job Profile) में जानकारी देंगे। इसके अतिरिक्त आप किस प्रकार से एक डिस्टिक मजिस्ट्रेट बन सकते हैं इसके बारे में भी जानकारी देंगे। तो आइए आज के इस लिए को शुरू करते हैं।

Best Study Material For Defence Aspirants

District Magistrate क्या है? (Salary of DM and Job Profile)

डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट अर्थात जिला अधिकारी क्या होते हैं? यह जानना अति आवश्यक है। किसी भी जिले का प्रमुख अधिकारी जिला अधिकारी अर्थात डिस्टिक मजिस्ट्रेट कहलाता है। जो जिले में कानून तथा कानून व्यवस्था की देखरेख, पुलिस व्यवस्था का रखरखाव तथा जेलों के देखरेख आदि कार्यों को संभालता है। डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट का पद सर्वोच्च पद होता है जो किसी भी पुलिस विभाग में दिया जाने वाला पद है। डिस्टिक मजिस्ट्रेट बनने के लिए एक आईएएस अधिकारी बनना आवश्यक है। आईएएस अधिकारी बनने के कुछ समय बाद प्रमोशन के द्वारा आईएएस अधिकारी एक जिले का मुखिया अर्थात डिस्टिक मजिस्ट्रेट (Salary of DM and Job Profile) बन जाता है।

District Magistrate कैसे बने?

Related Posts
1 of 108

डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट बनने के लिए उम्मीदवारों को 12वीं परीक्षा तथा ग्रेजुएशन पास करना अनिवार्य है। डिस्टिक मजिस्ट्रेट बनने से पहले उम्मीदवार को उत्तर प्रदेश संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा आयोजित की जाने वाली आईएएस की परीक्षा में उत्तीर्ण होना आवश्यक है। उत्तीर्ण होने के पश्चात उम्मीदवार को साक्षात्कार के बाद एक आईएएस के पद पर जॉइनिंग दी जाती है। आईएएस अधिकारी बनने के लिए उम्मीदवार की आयु 21 से 30 वर्ष के मध्य होनी चाहिए। अन्य वर्गों मेंआईएएस बनने के लिए आयु 21 से 35 वर्ष तक होती है। पुलिस प्रशासन में आईएएस की पद पर कार्य करते हुए अधिकारी पद उन्नति के पश्चात एक डिस्टिक मजिस्ट्रेट बन जाता है। डिस्टिक मजिस्ट्रेट बनने के बाद आईएएस अधिकारी के पास अनेक जिम्मेदारियां (Salary of DM and Job Profile) आ जाती हैं।

परीक्षा का नामUPSC IAS
आयोजन कर्तासंघ लोक सेवा आयोग (UPSC)
परीक्षा का प्रकारऑफलाइन
चयन प्रक्रियालिखित परीक्षा तथा इंटरव्यू
आयु सीमासामान्य के लिए 21 से 30 वर्ष
ओबीसी के लिए 21 से 33 वर्ष
ऐसीीी तथा एसटी के लिए 21 सेे 35 वर्ष
जॉइनिंग के समय पदIAS
प्रमोशन के बादजिला अधिकारी (district magistrate)

District Magistrate के कार्य (Salary of DM and Job Profile)

यदि कोई आईएएस अधिकारी डिस्टिक मजिस्ट्रेट के पद पर कार्य करता है, तब उसे निम्न जिम्मेदारियों को निभाना होता है।

  • डीएम अपने जिले के अंदर कानून व्यवस्था को बेहतर बनाए रखता है।
  • पुलिस द्वारा किए जाने वाले कार्य को नियंत्रित करना एवं उन्हें निर्देशित करना डीएम का कार्य होता है।
  • जिले के डीएम के पास जिले में उपस्थित जेल के प्रशासन का भी अधिकार होता है।
  • किसी भी जिले के डीएम का मुख्य कार्य अपने जिले में होने वाले अपराध एवं कार्यों का लेखा-जोखा सरकार तक प्रतिवर्ष पहुंचाना होता है।
  • डीएम का कार्य अपने अंडर में आने वाले सभी जिलों का निरीक्षण करना तथा सरकारी कामों की उचित प्रकार से जांच करना होता है।
  • जिले का डीएम अपने जिले में व्यवस्था को सुचारू रूप से व्यवस्थित करना तथा अन्य अधिकारियों पर नजर रखना होता है।
  • एक डीएम के पास किसी भी निचले अधिकारी को सस्पेंड करने का भी अधिकार होता है।

Salary of DM (Salary of DM and Job Profile)

डीएम एक सरकारी कर्मचारी होते हैं। इसलिए प्रशासन के सर्वोच्च पद पर कार्य करने के लिए इन्हें बेहतर सैलरी दी जाती है। जिले के एक डीएम को प्रतिमाह लगभग ₹75000 से 1.5 लाख रुपए सैलरी दी जाती है। एक आईएएस अधिकारी पदोन्नति के बाद डीएम बनता है, इसलिए डीएम की सैलरी भी आईएएस अधिकारियों के समान होती है। सैलरी के अतिरिक्त डीएम को सरकार के द्वारा अनेक लाभ (Salary of DM and Job Profile) भी दिए जाते हैं। सरकार द्वारा दिए जाने वाले लाभ में एक डीएम को सरकार के द्वारा निजी आवास, नीचे यातायात के लिए वाहन जैसे अनेक सुविधाएं दी जाती हैं।

दोस्तों आज हमने अपने लेख में डीएम के कार्य तथा वेतन (Salary of DM and Job Profile) से संबंधित जानकारियां आपके साथ साझा की। यदि आप भी किसी जिले के सर्वोच्च पद अर्थात डीएम बनना चाहते हैं तो सर्वप्रथम आईएएस की परीक्षा उत्तीर्ण करें। जिसके पश्चात आप कुछ समय बाद डीएम बन सकते हैं। और सरकार द्वारा दी जाने वाली आकर्षक वेतन एवं लाभ का फायदा उठा सकते हैं। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो आप अपनी राय हमारे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है।

20+ Free Mocks For RRB NTPC & Group D Exam

Attempt Free Mock Test

10+ Free Mocks for IBPS & SBI Clerk Exam

Attempt Free Mock Test

10+ Free Mocks for SSC CGL 2020 Exam

Attempt Free Mock Test

Attempt Scholarship Tests & Win prize worth 1Lakh+

1 Lakh Free Scholarship