विटामिन के बारे में सम्पूर्ण जानकारी- Sources| Functions|Deficiency etc.

1

Hello Friends आज हम आप सभी छात्रों के लिए विटामिन से संबंधति जानकारी शेयर कर रहे हैं| दोस्तों आप सभी के प्रतियोगी परीक्षाओं में इस टॉपिक से हर बार प्रश्न पूछे जाते हैं| दोस्तों आप सभी इस जानकरी को अवश्य याद कर लें और इसके बारे में पूरी जानकारी इस पोस्ट के माध्यम से कंठस्त कर लें| जो छात्र-छात्राएं विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं उन सभी छात्रों के लिए हमारा आज का यह पोस्ट बहुत ही सहायक है| नीचे हम आप सभी को सम्पूर्ण जानकारी शेयर कर रहे हैं|

विटामिन एक लैटिन भाषा का शब्द है Vita=life, amine= जीवन के लिए आवश्यक यह कार्बनिक पदार्थ है, इसकी हमारे शरीर को सोच में मात्रा में आवश्यकता होती है लेकिन यह शरीर की समस्त उपापचई क्रियाओं को नियंत्रित करते हैं| इन की कमी से शरीर में अनेक रोग हो जाते हैं|

  • विटामिन की खोज- ल्युनिन (1881) & होपकिंस (1912)
  • विटामिन का नाम दिया-फन्क
  • विटामिन का अध्ययन विटामियोलॉजी कहलाता है|
  • विटामिन लघु पोषक तत्व, जैविक नियंत्रक और उपाध्यक्ष नियंत्रक होते हैं|
  • विटामिन स्वास्थ्य नियंत्रक है लेकिन शरीर का निर्माण नहीं करते हैं|
  • सर्वप्रथम ज्ञात बिटामि-न विटामिन सी
  • सर्वप्रथम आसवित अथवा निष्कर्षण बिटामिन-विटामिन बी
  • जीवों में अभी तक 20 प्रकार के विटामिन का पता चला है जिन्हें दो प्रकार श्रेणियों में बांटा गया है-

(A) वसा में घुलनशील (B) जल में घुलनशील

A वसा में घुलनशील-(A,D,E,K)

विटामिन A-रेटिनॉल

  • खोजकर्ता-मैकुलम
  • पीले और लाल कैरोटिनाइड रंजक द्वारा यकृत द्वारा निर्मित किया जाता है|
  • इसे एंटी इंफेक्शन विटामिन तथा एंटी कैंसर विटामिन भी कहते हैं|
  • विटामिन A के समावयवी है-
  • A1 रेटिनॉल-दृष्टि के लिए
  • A2 डीहाइड्रोरेटिनॉल जो इपिथेलियल लाइनिंग ग्रंथियों व् आंसू उत्पन्न करने के लिए आवश्यक है|
  • विटामिन A को रोग प्रतिरोधक विटामिन भी कहते हैं
  • दृष्टि के लिए यह आंखों में रोडिप्सन का निर्माण करता है |

इसकी कमी से होने वाले रोग-

  • रतौंधी या रात्रि अंधापन- इसे निक्टोपोलिया भी कहते हैं|
  • जीसेपथेलिमिया A2 की कमी से
  • आंसू निर्माण अवरुद्ध हो जाता है|
  • इस रोग में कंजक्शन और कार्निया के किरेटिननाईजेशन के कारण कन्जेक्टिवा और कार्निया शुष्क हो जाते हैं|
  • यह संपूर्ण विश्व में बच्चों में अंधेपन का मुख्य कारण है|
  • इसकी कमी से शिशुओं में वृद्धि रुक जाती है|
  • प्राप्त स्त्रोत- गाजर उत्तम स्त्रोत है, मक्खन, अंडा पीतक, दूध, पपीता, आम, पालक, मछली, यकृत तेल, पत्ता गोभी, टमाटर इत्यादि|
  • लीवर (यकृत) मैं भविष्य के लिए विटामिन ए भंडारित होता है|
  • दैनिक मांग 150* g

विटामिन D- कैल्सिफेरॉल

  • इसे सनशाइन विटामिन या एंटी रिकेट्स विटामिन भी कहते हैं यह पराबैगनी प्रकाश की उपस्थिति में कोलेस्ट्रॉल से त्वचा द्वारा निर्मित होता है|
  • इस समूह में लगभग 10 विटामिन ज्ञात हैं|
  • कोलीकैल्सिफेरॉल नामक D विटामिन का संश्लेषण जंतु स्वयं अपनी त्वचा कोशिकाओं में 7 डीहाईड्रोकोलेस्ट्रॉल नामक पदार्थ से करते हैं|
  • यह हड्डियों और दांतों के लिए आवश्यक है| हड्डियों के निर्माण में तथा कैल्शियम के अवशोषण में सहायक|

कमी से होने वाले रोग-

  • बच्चों में रिकेट्स (सूखा रोग) हड्डियां कमजोर
  • वयस्कों में- ओस्टियोमलेसिया|
  • प्राप्त स्त्रोत- मक्खन, सूर्यप्रकाश, सब्जियां, मांस, लीवर, अंडे, दूध इत्यादि|
  • गर्भ निरोधक दवा द्वारा नष्ट हो जाता है|
  • खोजकर्ता- होपकिंस
  • दैनिक मांग-400 I.U.

विटामिन E- टोकोफेरॉल

  • इसे एंटीस्टेरीलिटटी विटामिन या ब्यूटी विटामिन भी कहा जाता है|
  • यह विटामिन त्वचा पर से दाग और झुर्रियां हटाता है|
  • अधिक ऊष्मा से नष्ट हो जाता है|

कमी से होने वाला रोग-

  • बाँझपन,गर्भपात,अंगधात (पोलियो) पेशियों का कमजोर होना इत्यादि|
  • प्राप्त स्त्रोत- हरी पत्तियां, तेल,गेहूं,अंडे, मांस,कॉटन बीज तेल
  • दैनिक मांग-30 I.U.

विटामिन K फाईलोक्विनोंन या फ्लेवीनोक्विनोंन

  • इसे एंटी हीमोरेगिक विटामिन भी कहते हैं|
  • आंत में पाए जाने वाले सहजीवी जीवाणु कॉली द्वारा संश्लेषित होता है |
  • मिनेडिऑन कृतिम विटामिन K सबसे महत्वपूर्ण होता है|
  • प्रोथ्रोम्बिंन के निर्माण के लिए आवश्यक|

कमी से होने वाले रोग

  • रक्त का थक्का नहीं बनता|
  • प्राप्त स्त्रोत- हरी सब्जियां, गाजर, टमाटर, लीवर, गोभी, पालक, धनिया, मूली का ऊपरी सिरा, सोयाबीन इत्यादि|
  • यह एंटीबायोटिक्स और सल्फा औषधियों के लगातार उपयोग से नष्ट हो जाता है|
  • दैनिक मांग-0.001mg

2 जल विलेय विटामिन (B,C)

  • यदि शरीर का क्षतिग्रस्त भाग रिपेयर नहीं हो रहा हो तो उस व्यक्ति को विटामिन बी कांप्लेक्स दिया जाता है यह कई प्रकार के होते हैं|
  • विटामिन B के अब तक 18 घटकों की खोज हो की जा चुकी है|
  • विटामिन B को सम्मिलित रूप से B कांपलेक्स कहा जाता है|
  • खोजकर्ता- मैकुलन
  • विटामिन-B या प्रोटीन के पाचन हेतु आवश्यक होता है इसलिए इसे प्रोटीन भी कहते हैं या रक्त में ऐसी शक्ति उत्पन्न करता है कि जिससे संक्रामक रोग नहीं हो पाते हैं|

विटामिन B1-थाईमिन

  • इसे एंटी बेरी बेरी कारक या एंटी न्यूराईटिक तथा एन्यूराइट भी कहते हैं|
  • बेरी बेरी पेरिफेरल तंत्रिका तंत्र, आहारनाल और कार्डियोवैस्कुलम तंत्र को प्रभावित करता है|
  • यह पकाने और बेकिंग सोडा से नष्ट हो जाता है|

 

कमी से होने वाले रोग

  • बेरी बेरी, वरनिक्स,एन्सिफेलोपेथी, अपच तथा कब्ज हो जाती है|
  • प्राप्त स्त्रोत- चावल, गेहूं, अंडे और मछली इत्यादि
  • नोट:- वेरी-वेरी एक सिंहली शब्द है जिसका अर्थ है अत्यधिक दुर्बलता|
  • 18697 में ईज्क्मान ने बेरी बेरी रोग का पता लगाया था
  • बेरी बेरी रोग उस क्षेत्रों में पाया जाता है जहां पालिसदार चावल प्रमुख खाद्य पदार्थ होता है|
  • दैनिक मांग-1.4-1.7.mg

विटामिन B2- राईबोफलेविन

  • इसे विटामिन G या लेक्टोफलेविन या पिला एंजाइम भी कहते हैं
  • इसकी खोज सन 1935 में हुई जब इसे दूध से निकाला गया| यह गहरे पीले रंग का होता है|
  • यह PMN एवं FAD निर्माण के लिए आवश्यक है|
  • आंत में पाए जाने वाली सहजीवी जीवाणु द्वारा संश्लेषित होता है|

कमी से होने वाले रोग

  • कीलोसिस, मुंह में घाव होना एवं छाले होना, अनियमितताएं मानसिक दबाव,पेलेग्रा के समान और बेरी बेरी के समान रोग आदि|
  • Cheillosis- किनारों से मुंह का फटना|
  • Glossitid – जीभ का चिकना एवं नीलापन होना|
  • प्राप्त स्त्रोत-गाय का दूध, अंडे,लीवर, ईस्ट इत्यादि|
  • दैनिक मांग-1.4-1.6mg

विटामिन B3- नियासिन या निकोटिनिक अम्ल

  • इसे एंटी पेलेग्र करक या विटामिन PP भी खा जाता है| नियमित या निकोटिनिक अम्ल
  • यह NAD एवं NADP के आवश्यक घटक निर्माण कर्ता है
  • यह कोलेस्ट्रोल के उत्पादन को रोकता है|

कमी से होने वाले रोग

  • मानव में पेलेग्रा और कुत्तों में जीभ का काला होना केननाइन बीमारी|
  • प्राप्त स्त्रोत-वृक्क,लीवर,दूध,यीस्ट,आलू,अंडे इत्यादि|
  • Note:-पेलेग्रा एक इटेलिक शब्द है जिसका अर्थ है खुरदरी त्वचा | पेलेग्रा रोग को 4D सिंड्रोम भी कहते हैं | अर्थात रोग लक्षण के चार समूह द्वारा होता है ये है डरमेटाइटिस, डायरिया, डिमेसिया, और डेथ|
  • दैनिक मांग-1820mg

विटामिन B5- पेंटोथेनिक अम्ल

  • इसे यीस्ट करक या फिल्ट्रेट फेक्टर या चिक एंटी डर्मेटाइटिस करक भी कहा जाता है|
  • इससे को – इंजन का निर्माण होता है जो कि कार्बोहाइड्रेट वसा एवं प्रोटीन निर्माण में सहायक है|
  • यह एसीटाइलकोलीन के निर्माण में सहायक है|

कमी से होने वाले रोग

  • थकान पेशियों में पक्षाघात (लकवा) केश- अवर्णता तथा जनन क्षमता में कमी
  • प्राप्ति स्त्रोत – वृक्क,लीवर, दूध, अंडे, मांस इत्यादि |
  • दैनिक मांग-5-10mg

विटामिन B6- पेरीडॉकसिन पायरीडॉक्सिन

  • इसे एंटी डर्मेटिस कारक कहते हैं|
  • ट्यूबरक्युलोसिस के उपचार में उपयोगी|
  • आंत में पाए जाने वाले सहजीवी जीवाणु द्वारा संश्लेषित होता है|

कमी द्वारा होने वाले रोग 

  • डर्मेटिसिस, रक्त की कमी, सुबह चलने में कठिनाई, एंटीबॉडी संश्लेषण में कमी|
  • प्राप्त स्त्रोतलीवर, मांस,यीस्ट, अंडे इत्यादि|
  • दैनिक मांग-2mg

विटामिन B7 बायोटिन

  • इसे विटामिन H या Anti egg white injury factor भी कहते हैं|
  • यह वसा निर्माण में सहायक है|
  • सल्फर युक्त विटामिन


कमी द्वारा होने वाले रोग

  • त्वचा रोग बालों का झड़ना तथा कमजोरी
  • प्राप्ति स्तोत्र- इष्ट फल अंडे सब्जियां गेहूं चॉकलेट मूंगफली

विटामिन B12 सायनोकोबेलेमिन

  • इसे एनीमिया नाशक कारक या RBC निर्माण कारक भी कहते हैं|
  • विटामिन-B12 प्रकृति में पाए जाने वाला पहला पदार्थ है जिसमें कोबाल्ट होता है|
  • यह आंत्र बैक्टीरिया द्वारा संश्लेषित किया जाता है|
  • भूनने या अधिक ऊष्मा से नष्ट हो जाता है|
  • सल्फर युक्त अमीनो अम्ल के लिए आवश्यक होते हैं|
  • यह DNA निर्माण और लाल रुधिर कणिकाओं के निर्माण और वृद्धि में सहायक है|


कमी द्वारा होने वाले रोग-

  • पर्निसीयस एनीमिया
  • प्राप्त स्त्रोत– मांस मछली यकृत दूध अंडे पनीर आदि|
  • मछली के जिगर के तेल में विटामिन बी12 प्रचुर मात्रा में मिलता है|
  • कोलोस्ट्र (खीस) में इसकी अधिकता होती है|
  • ऐसे शाकाहारी लोग जो मांस मछली अंडा आदि के अलावा दूध से बने खाद्य पदार्थों का सेवन बिल्कुल नहीं करते हैं उन से विटामिन बी12 की कमी होने का खतरा सर्वाधिक रहता है|
  • दैनिक मांग-0.2-1.0*g

विटामिन B9- फ़ॉलिक अम्ल

  • इसे फ़ोलिसिन या विटामिन M भी कहा जाता है|
  • यह RBC के निर्माण व् DNA के निर्माण में आवश्यक है|
  • इससे THF को-एंजाइम बनाता है जो कि न्यूक्लिक अम्ल के निर्माण में उपयोगी है|
  • रक्त निर्माण में सहायक है|
  • गर्भ में पल रहे बच्चे के स्नायु तत्र को फ़ॉलिक अम्ल विटामिन स्वस्थ रखता है|

कमी द्वारा होने वाले रोग

  • Macrocytic Anemia
  • प्राप्त स्त्रोत- हरी पत्तेदार पालक, सब्जियां, सोयाबीन एवं लीवर इत्यादि|

विटामिन C- एस्कोर्बिक अम्ल

  • इसे एंटी स्कर्वी या एंटी केंसर, एंटी रेबीज विटामिन भी कहा जाता है|
  • यह सामान्य हृदय धड़कन के लिए विटामिन है
  • यह घाव को शीघ्र भरने के लिए सहायक है|
  • हीमोग्लोबिन निर्माण में सहायक है|
  • संयोजी ऊतक निर्माण में सहायक|
  • यह ऊष्मा और प्रकाश से नष्ट हो जाता है|

कमी द्वारा होने वाले रोग

  • मसूड़ों एवं दांतो से रक्त प्रभावित होने लगता है| (स्कर्वी रोग), नेत्र लेंस अपारदर्शी हो जाता है| Cataract रोग
  • प्राप्त स्त्रोत- आंवला, टमाटर, संतरा, नींबू, अमरूद, आलू, हरी सब्जियों, गूजवेरी, काली मिर्च, पत्ता गोभी इत्यादि|
  • जब कटे हुए फलों को अधिक समय तक रखा जाता है तो विटामिन नष्ट हो जाता है|
  • सर्दी होने पर एस्प्रिन या एंटीबायोटिक का प्रयोग करते समय साथ में विटामिन C का प्रयोग करते हैं जिससे उस दवाओं का असर बढ़ जाता है|
  • एक शराबी व्यक्ति के शरीर में विटामिन C की कमी हो जाती है|
  • दैनिक मांग-40mg

अन्य विटामिन

  • सिट्रीन को विटामिन P (पीरियोडिक्टीयोल) भी कहा जाता है| यह विटामिन C के समान होते हैं (Latest Discovered Vit.) जो
  • रक्त संचार की पारगम्यता को नियंत्रित करता है|
  • विटामिन B17- यह नया एंटी कैंसर विटामिन है-तरबूज से प्राप्त किया जाता है|
  • विटामिन Q- रक्त का थक्का बनाने में सहायक है|
  • विटामिन बी15- इसे पोगेनिक अम्ल भी कहा जाता है जिसकी कमी से यकृत में अव्यवस्था उत्पन्न हो जाती है|
  • विटामिन-एफ की कमी से कौन सा रोग होता है- त्वचा रोग हृदय रोग, क्षय रोग|

You May Also Like This

Friends, if you need an eBook related to any topic. Or if you want any information about any exam, please comment on it. Share this post with your friends in social media. To get daily information about our post please like my facebook page. You can also joine our facebook group.

Disclaimer: Sarkari Book does not own this book, neither created nor scanned. We just provide the link already available on the internet. If anyway it violates the law or has any issues then kindly mail us: [email protected]

1 COMMENT

  1. सर घटना चक्र की मानसिक अभिरूचि की बुक चाहिए forup police costable

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here