What is Photosynthesis, प्रकाश संश्लेषण क्या होता है?

हैलो दोस्तों- हम देखते हैं की वृक्ष अपना खाना खुद बनाते हैं जिसे हम फल (Fruit ) कहते हैं, पर क्या अपने कभी ये सोचा हैं की आखिर वृक्ष अपना फल कैसे बनाते हैं, आज हम बात करंगे कि कैसे कोई भी पेड़ अपना फल बनाता हैं. हमारे बहुत से ऐसे पाठक है जो Photosynthesis के बारे में जानते हैं पर क्या आपको यह पता हैं की Photosynthesis को प्रभावित करने वाले कारक कौन कौन से हैं और किस प्रकाश की तीव्रता में पेड़ अपना खाना बनाते हैं? चलिए जानते हैं की आखिर पेड़ जब अपना खाना बनते हैं तो उनको किन किन चीजो की जरूरत पड़ती हैं.

What is Photosynthesis, प्रकाश संश्लेषण क्या होता है?

दोस्तों आज हम आपको एक बहुत ही सरल उदाहरण के द्वारा photosynthesis के बारे में बताएँगे जिससे आपको photosynthesis को समझने में कोई भी परेशानी नही होगी|
जैसा की हम सब देखते हैं कि हमारे घर में एक कमरा (room ) है जहाँ पर हम खाना बनाते हैं और हम उसी room में ही खाना बनाने के लिए जिस वस्तु की जरूरत होती है वे सभी वस्तु को रख देते हैं, और अगर कुछ समानो की जरूरत होती हैं तो उसे बाहर से लाया जाता हैं, जिससे हमे खाना बनाने में कोई भी दिक्कत नही होती हैं|

ठीक इसी प्रकार पेड़ में भी एक भाग होता हैं जिसमे खाना बनाया जाता हैं, पेड़ो में खाना बनाने की प्रक्रिया उनकी पत्तियों में होती हैं और जिस भी वस्तु की आवश्यकता होती है, वो अपने जड़ो और सूर्य की किरणों के प्राप्त कर लेते हैं, जिससे वे अपने भोजन बनाने की प्रक्रिया आसानी से पूर्ण कर लेते हैं

Best Study Material For Defence Aspirants

Digestion System Notes In Hindi, पाचन तंत्र क्या है और यह कैसे काम करता है।

What is Photosynthesis?

दोस्तों, हम सभी एक ही सवाल करते हैं, What is photosynthesis? या प्रकाश संश्लेषण की क्रिया क्या हैं? दोस्तों, photosynthesis process की प्रक्रिया सिर्फ हरे पौधों तथा कुछ जीवाणुओं में पाए जाता हैं इस प्रक्रिया में हरे पौधे सूर्य के प्रकाश तथा वायुमंडल से कार्बन डाई ऑक्साइड और जड़ो की मदद से जल को अवशोषित करते है और इसी द्वारा भोजन का निर्माण करते हैं इस पूरी प्रक्रिया को photosynthesis process कहा जाता हैं.

प्रकाश संश्लेषण की सम्पूर्ण प्रक्रिया पौधे की पत्तियों में पाए जाने वाले हरितलवक में होती हैं, हरितलवक को पर्ण हरित, लवक, या Chlorophyll के नाम से भी जाना जाता हैं.‍‍‍‍|

Photosynthesis process equation:-

6CO2 +12H2O sunlight + chlorophyll —————C6H12O6 + 6H2O + 6O2

Photosynthesis process के लिए आवश्यक पदार्थ:-

photosynthesis process के लिए

  • कार्बन डाई ऑक्साइड,
  • जल तथा
  • सूर्य के प्रकाश की आवश्यकता होती हैं|
  1. कार्बन डाई ऑक्साइड (CO2 ):- कार्बन डाई ऑक्साइड (CO2 ) photosynthesis की क्रिया में एक उपयोगी पदार्थ होता हैं, हरे पौधे वायुमंडल से CO2 गैस ग्रहण कर लेते हैं जबकि पानी में रहने वाले हरे पौधे जल में घुली हुई CO2 को ही ग्रहण करते हैं, मैदानी भागो में पाए जाने वाले पौधों , मनुष्यों के श्वसन की क्रिया से बाहर निकली कार्बन डाई ऑक्साइड गैस प्रकाश संश्लेषण की क्रिया में प्रयुक्त होती हैं|
  2. जल (Water )/H2O:- जल photosynthesis की क्रिया में बहुत महत्वपूर्ण होता हैं, हरे पौधे जल की पूर्ति अपने जड़ो के द्वारा जमीन से कर लेते हैं, पौधों की जड़ो में परासरण की क्रिया पाई जाती हैं जिससे वो आसानी से जल को भूमि से अवशोषित कर लेती हैं, उसके बाद Xylem ऊतकों की मदद से ये पत्तियों तक पहुच जाती हैं| जहाँ इनका हाइड्रोजन आयन के रूप में विखंडन हो जाता हैं |H2O + sunlight→ 2H+ + 1/2 O2-
  3. लवक (Plastid):- पेड़ो में पाए जाने वालो अनेक प्रकार के लवक पाए जाते है जिससे पेड़ो में लगने वाले फलों का रंग, पेड़ की नयी जड़ो का रंग, फूलों का रंग तनो का रग आदि निर्धारित होता है,. इनके नाम और ये किन लक्षणों को निर्धारित करते हैं नीचे दी list में दी गयी हैं.

Plastid (लवक)के प्रकार :-

लवण के नामलवक के रंगप्राप्ति स्थान
हरित लवक (Chlorophyll/ Chloroplast)हरापत्ती / कच्चे फलों के छिलके में
क्रोमोप्लास्ट (Chloroplast)लाल, नीला, पीला (RGB), आदिफूलों की पंखुड़ियों में/ फलों के छिलके में
लयूकोप्लास्ट (Leucoplast)रंगहीनजड़ो में

4. हरित लवक (Chlorophyll/ Chloroplast):- यह भी photosynthesis process के लिए महत्वपूर्ण कोशिका अंग होता हैं| हरितलवक केवल हरे पौधों में ही पाया जाता हैं, जिस कारण पत्तियों का रंग हरा होता हैं, हरितलवक एक सतत दोहरी झिल्ली से घिरे होते हैं| उच्च पादपों के हरितलवक में अनेक स्तर की रचनाये पाई जाती हैं, जिन्हें ग्रेना (Granna) कहते हैं| हरितलवक के आंतरिक संरचना में एक गुहिका पाई जाती हैं जिसे पीठिका (Stroma) कहते हैं|
photosynthesis process इन्ही ग्रेना (Granna) और पीठिका (Stroma) में ही संम्पन होती हैं|

GDP क्या होता है? कैसे देश का जीडीपी हमें प्रभावित करता है|

हरितलवक कई प्रकार के होते हैं.

Chlorophyll “a”:- इसका फार्मूला C55H72O5N4Mg हैं और यह हरे पौधों में पाया जाता हैं.

Chlorophyll “b”:- इसका फार्मूला C55H70O6N4Mg हैं और यह नीले हरे रंग का होता हैं.

Xanthophyll:- यह पीले रंग का होता हैं. और ज्यादातर यह छिलकों में पाया जाता हैं.

Cortinoide:- यह पीले/ नारंगी रंग का होता हैं. और गाजर के छिलकों में पाया जाता हैं.

5- प्रकाश (Light):- photosynthesis की क्रिया केवल visible लाइट में ही पूर्ण होती हैं, हरितलवक प्रकाश में से केवल बैगनी, नीला और लाल रंग ही उपयोग में लाते हैं, photosynthesis की क्रिया बैगनी रंग में सबसे कम और लाल रंग में सबसे ज्यादा होती हैं|

Photosynthesis की क्रिया कैसे पूर्ण होती हैं?

Photosynthesis की क्रिया Redox अभिक्रिया पर आधारित हैं. इस प्रकिया में Oxidation तथा Reduction दोनों ही अभिक्रियाए पाई जाती हैं, photosynthesis की क्रिया 2 अवस्थाये होती हैं.

  • प्रकाशिक रासायनिक क्रिया (Photo/Light Chemical reaction)
  • प्रकाश रहित रासायनिक अभिक्रिया (Dark Chemical reaction)

प्रकाशिक रासायनिक क्रिया (Photo/Light Chemical reaction)

यह क्रिया हरितलवक के ग्रेंना भाग में होती हैं, इसे हिल अभिक्रिया (Hill Reaction) भी कहा जाता हैं|

इस प्रक्रिया में जकल का अपघटन होकर हाइड्रोजनआयन तथा इलेक्ट्रान उत्पन्न होते हैं| जल के अपचयन के लिए ऊर्जा, प्रकाश के द्वारा मिलती हैं. इस प्रक्रिया के अंत में ऊर्जा के रूप में ATP और NADPH निकलता हैं. जो Dark reaction को संचालित करने में मदद करता हैं.

4H2O → 4H+ + 4 OH
4H+ + NADP→ 2 NADPH2
4 OH → 2H2O + 2O2 (gas) + 2e

प्रकाश रहित रासायनिक क्रिया (Dark Chemical reaction)

यह अभिक्रिया chlorophyll के स्ट्रोमा (stroma) वाले भाग में पूर्ण होती हैं, यह अभिक्रिया सूर्य के प्रकाश की अनुपस्थिति में होती हैं, इस कारण इसे dark reaction कहते हैं| इस अभिक्रिया में प्रकाशिक क्रिया से प्राप्त NADPH और ATP अणुओ के उपयोग CO2 से carbohydrate के संश्लेषण के लिए किया जाता हैं |इस अभिक्रिया में कार्बन डाइऑक्साइड, rebulose biphosphate से प्रारंभ होकर अभिक्रिया के एक चक्र में प्रवेश करता है, जिसे कैल्विन बेनसन चक्र (kelvin- benson cycle) कहां जाता है इस चक्र के अंत में कार्बोहाइड्रेट का संश्लेषण एवं rebulose biphosphate का पुनः निर्माण होता है.

photosynthesis की संपूर्ण प्रक्रिया को संक्षेप में एक equation के द्वारा प्रदर्शित किया जा सकता है-

6CO2 +12 ATP + 12NADPH —————C6H12O6 + 12 ATP + 12 NADPH

Career After 12th in Hindi. 12th के बाद क्या करें? कैसे तैयारी करे ?

प्रकाश संश्लेषण की क्रिया को प्रभावित करने वाले कारक

प्रकाश संश्लेषण की क्रिया को प्रभावित करने वाले निम्नलिखित कारक हैं

  1. प्रकाश (Light):- प्रकाश संश्लेषण की क्रिया लाल एवं नीले प्रकाश में सबसे अधिक होती है जबकि पराबैगनी हरी, पीली एवं अवरक्त प्रकाश में प्रकाश संश्लेषण की क्रिया बिल्कुल नहीं हो पाती है. प्रकाश संश्लेषण की क्रिया प्रकाश के निम्न तीव्रता होने पर बढ़ती है परंतु जब प्रकाश की तीव्रता ज्यादा हो जाती है तब प्रकाश संश्लेषण की क्रिया घट जाती है
  2. तापमान(Temprature):- प्रकाश संश्लेषण में अनेक एंजाइमों की प्रतिक्रिया पाई जाती है एंजाइम तापक्रम के एक अनुकूलन सीमा पर ही कार्य करते हैं. अतः 0 डिग्री सेल्सियस से 37 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान पर प्रकाश संश्लेषण की क्रिया चलती रहती है परंतु जैसे ही 37 डिग्री सेल्सियस से ऊपर तापमान जाता है प्रकाश संश्लेषण की क्रिया घट जाती है.
  3. कार्बन डाई ऑक्साइड की मात्रा :- कार्बन डाइऑक्साइड के सांद्रता की एक निश्चित मात्रा प्रकाश संश्लेषण की क्रिया के दर को बढ़ाती है. लेकिन यदि कार्बन डाइऑक्साइड की सांद्रता लगातार बढ़ती जाती है तो प्रकाश संश्लेषण की क्रिया प्रभावित होती है. जिसके फलस्वरूप प्रकाश संश्लेषण की क्रिया रुक जाती है.
  4. जल (Water):- जल के अभाव में प्रकाश संश्लेषण की दर कम हो जाती है. क्योंकि प्रकाश संश्लेषण की क्रिया में जल का उत्सर्जन अधिक मात्रा में होता है. जिससे प्रकाश संश्लेषण की क्रिया प्रभावित होती है. इस क्रिया में कार्बन डाइऑक्साइड पौधों की पत्तियों में प्रवेश नहीं कर पाता क्योंकि जल की कमी होने पर पत्तियों में पाए जाने वाले रन्ध्र बंद हो जाते हैं.

प्रिय पाठको, आशा करते हैं कि आपको आज का यह article काफी अच्छा लगा होगा हमने इस आर्टिकल में photosynthesis से जुड़ी हुई सारी जानकारी दी हुई है यदि आपके मन में photosynthesis से जुड़ी कोई भी प्रश्न आ रहा हो तो कमेंट बॉक्स में हमें बता सकते हैं हम आपकी पूरी तरह से सहायता करेंगे. यदि आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा है तो दूसरे लोगों तक भी इसे शेयर करें जिससे हमारा लिखने और आप सभी लोगों तक जानकारी पहुंचाने में सहयोग बना रहे